intraday trading book in hindi pdf

intraday trading book in hindi pdf

अक्सर यह पाया गया है की जो शेयर मार्किट में नए होते हैं उन्हें अपने पैसे को इन्वेस्ट कर ज्यादा से ज्यादा मुनाफा और साथ ही कम समय में धनवान बनने सपना होता हैं और इसे सिद्ध करने के लिए ।

वे अपने इन्वेस्ट करने के पहला विकल्प intraday में ट्रेडिंग करना होता हैं जबकि यह किसी मगरमच्छ के मुँह में हाथ डालने के बराबर होता हैं लेकिन इसे सही तरिके से किया जाए तो आपका काम आसान हो जाता हैं ।

क्योंकि स्टॉक का चुनाव सबसे पहला और स्ट्रांग मेथड होता हैं जिसमे आपके मुनाफा होने की संभावना सबसे अधिक रहती इसलिए सभी शेयर कंपनियां इंट्राडे के अनुकूल नहीं होती हैं इसलिए उन्हें एक फ़िल्टर की मदद से छाटना जरुरी हैं जो आपको intraday trading book in hindi में मिलेगा जिसमे मैंने इंट्राडे के शेयर कैसे ढूंढे जाते हैं उसको विस्तार से बताया हैं ।

हाँ दोस्तों आज हम इस लेख में आपको  एक किताब में दिए गए एक पावर फुल उदाहरण के साथ इंट्राडे में इन्वेस्ट करने के बारे में बताऊंगा साथ ही आप चाहे तो इसका intraday trading books hindi pdf free download भी प्राप्त कर सकते हैं जिसमे और भी ढेर सारे तरिके सुझाये गए हैं ।

जो आपको intraday में कुछ दिनों तक अभ्यास करते रहने के बाद एक बेहतरीन इन्वेस्टर बन सकते हैं और बिलकुल स्वतंत्र होकर आप intraday सेसन के दौरान किसी भी स्टॉक में पैसा लगा सकते हैं ।

हालाँकि यह नए इन्वेस्टर के लिए इतना आसान नहीं होता हैं क्योंकि सुरुवात में काम पैसे के इन्वेस्टमेंट के साथ आपको बहुत ज्यादा प्रैक्टिस करने की आवस्यकता पड़ेगी लेकिन intraday trading books hindi pdf प्राप्त करने के बाद आपको ज्यादा प्रैक्टिस करने की जरुरत नहीं पड़ेगी

intraday trading ki pehchan book pdf in hindi

आप चाहे कितना भी intraday pdf प्राप्त कर ले परन्तु intraday में ट्रेडिंग करने से पहले जब तक उसके कुछ नियम को नहीं जानेंगे तब तक आपके सारे प्रयाश विफल हो जायेंगे क्योंकि इस नियम को बड़े से बड़े इन्वेटर भी फॉलो करते हैं तो जाहिर है की आपको भी यह नियम मालूम जरूर होना चाहिए ।

1 ) यदि आप सोच रहे है की बड़े इन्वेस्टर की तरह आप भी एक बार में बहुत सारे पैसे शेयर मार्किट में लगाकर एक या दो घंटे के बाद अच्छा मुनाफा कमा लेंगे तो आप गलत है क्योंकि शेयर बाजार में टिकना है तो कम पूंजी से सुरुवात करे चाहे आपके पास कितना भी ज्यादा पैसा क्यों ना हो ।

2 ) लाइव सेसन में intraday ट्रेडिंग करने के साथ – साथ पेपर भी नोट करते रहे ताकि आपको गलती का पता चल सकें और समय रहते उसे सुधारा जा सकें क्योंकि शेयर मार्किट से जुडी हर छोटी जानकारी आपको ध्यान में रखना जरुरी हैं ।

3 ) स्टॉक का चुनाव एक दिन पहले करे और जो भी शेयर का चुनाव करे उनमे कोई bad news तो नहीं हैं इसका भी आप गूगल में सर्च करके पता कर ले क्योंकि ऐसा नहीं करने से आपके दावं उलटे पड़ सकते हैं जिससे नुकसान बहुत ज्यादा हो सकता हैं ।

4 ) मान लीजिए आपने कोई स्टॉक चुना और उसमे अगले दिन मार्किट खुलने के बाद इन्वेस्ट करना सुरु कर दिया लेकिन आपको यह नहीं पता की  उस शेयर को कब बेचना है और साथ ही कितना लोस्स झेलना हैं तो ऐसे में आप रोज अपने पैसे का नुक्सान करेंगे और एक दिन शेयर मार्किट को छोड़ देंगे ।

BEST intraday book in hindi

आपको स्टॉक सेलक्शन से लेकर स्टॉक में इन्वेस्ट करने तक सारे मेथड को pdf में विस्तार से बताया हैं जिसे आपको एक बार जरूर उपयोग जानना चाहिए ताकि आप भी मेरे तरह एक सफल इन्वेस्टर बन सकते हैं ।

>>> PDF DOWNLOAD <<<

कुछ महत्वपूर्ण टिप्स भी आपको pdf में प्राप्त होगा जो आपको intraday के दौरान ट्रेड लेने में मदद कर सकते हैं और यह सभी मेथड के लिए आपको कोई भी अतिरिक्त  पैसे खरच नहीं करने होंगे क्योंकि pdf में बताये गए सभी मेथड फ्री हैं जिनका आप बार – बार इस्तेमाल कर सकते हैं ।

यदि आपका intraday सबसे पसंदीदा केटेगरी है तो एक बात हमेशा ध्यान रखें की इसमें ज्यादा लालची न बने क्योंकि इसमें ज्यादा से ज्यादा 1 से 2 % मुनाफा सही विकल्प हैं और आपके chart pattern analysis सटीक है तो मुनाफ प्रतिसत बढ़ा सकते हैं लेकिन यह मौका कभी – कभी मिलता हैं ।

आपको एक नियम और भी ध्यान में रखना जरुरी हैं जो की ट्रेड लेने के इसे से जुड़ा हैं आप intraday में सुरुवाती समय में कम से कम 1 से 2 ट्रेड ले और उसमे मुनाफा हो लोस्स उसके बाद अपने लोस्स को रिकवर करने या फिर और अधिक लाभ कमाने के चक्कर में और पूंजी मत इन्वेस्ट करे ।

तो चलिए अब इंट्राडे में ट्रेड कैसे लेते है और उस intraday trading in hindi pdf में शामिल किये कुछ अंश के बारे जानते हैं जो आपको जरूर पसंद आएगा इसलिए pdf भी जरूर प्राप्त करने का प्रयास करे ।

technical chart of intraday in hindi – 1

आप इस सिंपल चार्ट का उपयोग ऑप्शन ट्रेडिंग , बैंक निफ़्टी , या फिर स्टॉक के ऊपर अप्लाई कर सकते हैं क्योंकि यह बहुत ही परफेक्ट intraday trading स्ट्रेटेजी है लेकिन इससे भी powerfull स्ट्रेटेजी आपको बुक में मिल जायेगा जो एक्यूरेसी के मामले में कहीं बेहतर हैं ।

इस चार्ट में हम सबसे पहले macd और बोलिंजर बैंड्स की मदद से इंट्राडे स्टॉक को खरीदेंगे जिसमे आपको थोड़े बदलाव करने होंगे । सबसे बोलिंजर बैंड्स के सेटिंग में जाए और उसका लेंथ साइज 20 के जगह 22 कर क्योंकि हम जानते हैं ।

की एक महीने में केवल 22 वर्किंग दिन ही होते हैं जिसमे मार्किट खुले रहते हैं बाकी बचे दिन संडे और किसी अन्य छुट्टी के कारण बंद रहते हैं इसलिए मैंने बोलिंजर का लेंथ 22 दिन चुना हैं ।

इसके बाद अब आप एक और पैटर्न का इस्तेमाल करेंगे क्योंकि एक पैटर्न से हमे रॉंग सिग्नल भी ज्यादा मिलते हैं इसलिए इन्हे फ़िल्टर करने के लिए macd को इस्तेमाल करेंगे जिसका सेटिंग में कोई बदलाव नहीं होगा ।

चूँकि इंट्राडे एक ही दिन के अंदर सौदा खरीदना और बेचना होता हैं इसलिए हमारा टाइम पीरियड भी छोटा होना जरुरी हैं जिसके लिए हम 15 मिनट का टाइम फ्रेम इस्तेमाल करेंगे ताकि उसी दिन सौदा से स्क्वायर ऑफ हो जाए ।

indicator

bollinger bands – इसके सेटिंग में जाकर लेंथ को 20 से बढाकर 22 कर दे ।

macd – इसके सेटिंग में कोई बदलाव नहीं होगा ।

time period – चूँकि हमे इंट्राडे के लिए ट्रेड लेना हैं इसलिए इसे 15 मिनट पर सेट करे ।

all candlestick patterns pdf  downloadswing trading strategies pdf

BUY

इस टेक्निकल चार्ट की मदद से ट्रेड लेते समय आपको किन्ही तीन बातें जरूर ध्यान रखना चाहिए जिसको मैंने निचे इमेज में चिन्हित किया हैं तथा तभी आप मुनाफा हासिल कर पाएंगे ।

 

intraday-trading-book-hindi-pdf-1

1 ) macd का सिग्नल लाइन ( बार )ग्रीन होने के साथ इनक्रीस करना चाहिए जिससे यह शाबित होता है की अभी बायर सौंदा खरीदना चाहते हैं ।

2 ) macd पूरी तरह ऊपर की तरफ Cross Over रहना चाहिए क्योंकि हमे पता है कि macd थोड़ा लेट से सिग्नल देता हैं इसलिए इसके रिजल्ट भी काफी प्रभावी होते हैं ।

3 ) यह पॉइंट सबसे मुख्य हिंसा हैं जिसमे बोलिंजर बैंड्स का मध्य लाइन के ऊपर कोई ग्रीन कैंडल क्लोज देना जरुरी हैं और आप तब तक सौदा नहीं खरीदेंगे जब तक की कोई दूसरा कैंडल उसके हाई प्राइस को काट ना दे । जैसे ही यह तीनो मुख्य शर्ते पूरी होंगी आप उस ट्रेड में शामिल हो जाए ।

STOP LOSS

स्टॉप लोस्स आप दो तरिके से लगा सकते हैं पाह की आप अपने पूंजी के  दो पर्सेंट निचे सेट कर दे या फिर चार्ट में जो कैंडल सबसे निचे की तरफ हैं उसके लौ प्राइस के के थोड़ा निचे सतोप्प लोस्स सेट कर दे या फिर ATR का भी मदद ले सकते हैं ।

SELL

अब बारी आती हैं मुनाफ को लॉक करने की तो इसके किये आप intraday के नियम के मुताबिक 1 से 2 % मुनाफ आते ही स्टॉक को बेच दे या फिर बोलिंजर बैंड्स के ऊपरी बंद को जैसे ही price छुवे तो अपना सौदा सेल्ल कर सकते हैं ।

technical chart of intraday in hindi – 2

अब मैं आपको उस intraday trading books for indian market pdf in hindi का दूसरा सबसे हेल्पफुल स्ट्रेटेजी जिसका मैं भी इस्तेमाल करता हूँ लेकिन ये टेक्निकल चार्ट केवल चुने गए इंट्राडे स्टॉक पर ही ज्यादा अच्छे से काम करते हैं ।

इस चार्ट में मैंने दो इंडिकेटर का इस्तेमाल किया है जिसमे पहला rsi और दूसरा supertrend हैं जिसका लोग सबसे अधिक इस्तेमाल करते हैं लेकिन इन दोनों में थोड़ा बदलाव करेंगे जिससे हमारी एक्यूरेसी और भी ज्यादा मजबूत बन जाएगी ।

Indicator

supertrend – वैसे आप सुपेर्ट्रेण्ड को जैसे ही चार्ट में लगाएंगे वैसे ही यह अमूमन 10 / 3 के अनुपात में रहता हैं जिसे हम इसके सेटिंग में जाकर 10 / 1 कर देंगे जो इस मेथड के लिए सूटेबल हैं ।

RSI – rsi इंडिकेटर में भी हमे कुछ बदलाव करने होंगे जिसके लिए आप इसके सेटिंग में जाकर इसके बीचवाली रेखा को 50 पर सेट करे और उसे लाल में रंग में बदल दे ताकि चार्ट में हमे अच्छी तरह दिखाई दे सके और साथ यदि चार्ट में पहले से डॉटेड में से है तो उसे line पर सेट कर दे क्योंकि हमे जो भी ट्रेड लेने है वे सब 50 rsi के ऊपर ही होंगे ।

Time Period – यह intraday  का चार्ट है इसलिए टाइम पीरियड 15 मिनट का रखना जरुरी हैं ताकि उसी दिन शेयर खरीदकर बेचा जा सकें ।

BUY

intraday-trading-book-hindi-pdf-2

हमे चुने हुए intraday  स्टॉक लिस्ट में उन स्टॉक को खोजना है जो rsi 50 रेड लाइन के ऊपर जाने का प्रयाश कर रहे हैं ताकि हम उन्हें खरीदने के लिए रेडी हो सकें ।

पहला नियम पूरा होने के बाद suptrend को ग्रीन होने का इंतजार करे और जैसे ही supternd ग्रीन हो जाए और साथ ही 15 मिनट का क्लोजिंग भी ग्रीन कैंडल में हो तो उसके हाई के ऊपर शेयर को खरीदें ।

लेकिन यहां ध्यान दे की कोई बड़ा ग्रीन candle पर सौदा नहीं खरीदेंगे क्योंकि हो सकता हैं आपको stop loss बड़ा लगाना पड़े इसलिए इंट्राडे में जितना छोटा स्टॉप लोस्स होगा उतना अच्छा हैं ।

STOP LOSS

स्टॉप लोस्स लगाना बहुत जरुरी हैं क्योंकि आप केवल मुनाफे के बारे में नहीं सोच सकते हैं क्योंकि कुछ ट्रेड फेल भी होंगे । इसलिए सुपेर्ट्रेण्ड के निचली लाइन के प्राइस पर स्टॉप लोस्स लगाए या फिर किसी lower low प्राइस में स्टॉप लोस्स सेट कर सकते हैं जिसके बारे में बुक में जरूर पढ़े ।

SELL

आप इस चार्ट में दो तरिके से शेयर को सेल्ल कर सकते हैं पहला की या तो आप 1 से 2 परसेंट का मुनाफा दीखते ही सौदा बेच दे और नहीं तो जैसे ही rsi के ऊपर लाइन को (70 – 80 ) को प्राइस टाच करे तो स्टॉक बेचा कर बाहर निकल जाए ।

निष्कर्ष (intraday trading book in hindi pdf)

आशा करता हूँ आपको मेरा यह लेख का छोटा हिस्सा पसंद आया होगा जिसमे मैंने intraday trading book in hindi pdf download की थोड़ी सी झलक आपके सामने पेश किया इंट्राडे के बारे में विस्तार से जानने के लिए बुक को जरूर चुने धन्यवाद ।

यह आर्टिकल केवल स्टडी पर्पज के लिए है इसलिए इन्वेस्ट करने का फैसला लेने से पहले अपने एडवाइज़र से एक बार सलाह जरूर ले 

Leave a comment