लोहे का कूलर price-Lohe ka Cooler Price in India

लोहे का कूलर price-Lohe ka Cooler Price in India

गर्मी के दिन आते ही सबसे पहला ख्याल हमारा यह सोचने में बीत जाता हैं की आखिर हमे गर्मी का अहसास न होने पाए इसके लिए क्या विकल्प हो सकते हैं । तो ऐसे में जाहिर हैं हमारा ध्यान cooler की तरफ जाना आम बात हैं ।

लेकिन कुछ लोगों को cooler में भी lohe वाला कूलर ज्यादा पसंद होता हैं इसलिए आज इस लेख में उन लोहे वाले कूलर के बारे में जानेंगे जो प्राइस में सस्ते होने के साथ कई तरह के feature से लैस होंगे । यदि आप कोई बढ़िया लोहा वाला कूलर ढूंढ रहे है तो यह लेख आपके लिए महत्वपूर्ण हैं ।

fiber cooler के ज्यादा चलन के वजह से लोहे का कूलर हर साल मार्किट में कम बिक रहे हैं लेकिन यह बात सच है की लोहे का कूलर , fiber cooler की तुलना में अधिक ठंडा हवा देने में सक्षम हैं क्योंकि उसके बॉडी में इस्तेमाल किया जानेवाला लोहा मुख्य वजह हैं ।

लोहे का कूलर ले चाहते हैं तो ले सकते हैं परन्तु खरीदने से पहले आपको यह भी जान लेना चाहिए की लोहे और फाइबर के कूलर में क्या फर्क होता हैं जिसके वजह से फाइबर कूलर का चलन सबसे अधिक हैं इसलिए आगे हम इन दोनों में कुछ ख़ास अंतर को भी जानेंगे ।

सभी लोहे के कूलर के बारे में जानने से पहले आपको यह जरूर मालूम होना चाहिए की कूलर अमूमन किसी साधारण पंखे के मुक़ाबले 3 गुना तक बिजली खपत करते हैं इसलिए इस लेख में पूरी बिजली खपत के साथ लोहे कूलर के बारे में बताया गया हैं ।

खेतान लोहे का कूलर– ( लोहे का कूलर price-Lohe ka Cooler Price in India )

खेतान कंपनी का इस मेटल कूलर का price सस्ता होने के साथ 220 volt एवं सिंगल फेज बिजली का उपयोग करता हैं । जिसमे यदि आप इसे एक घंटे उपयोग करते हैं तो 110 वाट बिजली का उपयोग करता हैं जैसा की कम्पनी की डिटेल में बताया गया हैं ।

खेतान-लोहे-का-कूलर

120 लीटर वाटर टैंक कैपेसिटी के साथ आने वाला यह लोहे का कूलर कम से कम 20 फ़ीट दूर तक हवा को फेकने में सक्षम हैं जिससे 100 स्क्वायर फिट के रम को मिनटों में ठंडा किया जा सकता हैं ।

इस कूलर का डायमेंशन 26 x 26 इंच है तथा 3 फिट तक ऊँचा और 60mm जितना पतला हैं । इस लोहे के कूलर में जो मोटर इस्तेमाल किया गया हैं उसकी rpm क्षमता 1340 हैं जो हवा ठंडा करने और दूर तक फेकने में मदद करता हैं ।

हार दिन बढ़ते बिजली के price के वजह से हमे गर्मियों में ध्यानपूर्वक lohe ka cooler इस्तेमाल करना चाहिए क्योंकि यह बहुत तेजी से बिजली का उपयोग करते हैं तो चलिए इस कूलर कूलर की power rating भी जान लेते हैं ।

चूँकि यह lohe ka cooler एक घंटे में 110 वाट बिजली का उपयोग करता हैं इसलिए एक दिन में मान ले कम से कम 12 घंटे उपयोग किया जाता हैं तो 110 X 12 = 1320 वाट बिजली एक दिन में होगा ।

आपको बता दे की 1000 वाट में 1 यूनिट होता हैं इसलिए एक महीने में 1320 x 30 = 39600 वाट आएगा जिसे यूनिट में बदलने पर 39.6 यूनिट होता हैं इसका मतलब यह हुआ की आपके यहाँ एक यूनिट के लिए 8 रूपए लिए जाते है तो 8 X 39.6 = 316 रूपए हर महीने केवल इस lohe ke cooler के लिए देने होंगे ।

CHECK PRICE

कम बिजली खपत वाले कूलर लिस्ट 

एयर मैक्स शक्तिशाली डेजर्ट एयर कूलर 75-लीटर – धातु एयर कूलर 

मिश्र स्टील धातु से बना यह लोहे का कूलर generic कंपनी का हैं जिसे 220 volt single phase पर आसानी से on किया जा सकता हैं और एक घंटे में यह 140 वाट की electricity use करता हैं ।

lohe-ka-cooler-price-in-india-1

इसमें water tank की क्षमता 75 लीटर हैं जिसके चलने के दौरान हवा फेकने की क्षमता 52 फ़ीट हैं इसलिए बड़े जगह के लिए यह सबसे उपयुक्त डेजर्ट कूलर  हैं । कूलर को खरीदते समय उसके साइज का भी ख्याल जरूर करे ।

इस lohe ka cooler का डाईमेशन 58.4 x 61 x 88.9 सेंटीमीटर हैं और इस लोहे का कूलर में इस्तेमाल किया जाने वाला मोटर का 1350 rpm हैं । इस लोहे का कूलर का कुल वजन 10 kg हैं ।जैसा की हम ऊपर यह पढ़ा चुके हैं की यह एक घंटे चलने के दौरान 140 वाट बिजली का उपयोग करता हैं इसलिए एक दिन में यदि 10 घंटे प्रयोग किया जाता हैं तो 140 X 10 = 1400 वाट होगा

एक महीने में 1400 वाट x 30 दिन = 42000 वाट आएगा जिसे यूनिट में बदलने पर 42000 / 1000 = 42 यूनिट होगा यदि एक यूनिट के लिए 8 रूपए लिए जाते हैं तो 42 x 8 = 336 रूपए हर महीने केवल इस lohe का कूलर के लिए देने होंगे ।

इस तरह से आप अपने lohe का cooler का बिजली उपयोग का calculation निकाल सकते हैं लेकिन अभी आपके मन में एक साव जरूर आएगा की क्या लोहे का कूलर और फाइबर के कूलर में बिजली उपयोग का कोई अंतर होता हैं ।

आपको बता दे की किसी भी कूलर का मुख्य पार्ट्स उसका motor होता हैं इसलिए बिजली उपयोग के मामले में लोहे का कूलर और फाइबर कूलर दोनों बराबर हैं ।

CHECK PRICE

कूलर कितने वाट का होता है ??

Air king 80 L Tower Air Cooler  – ( लोहे का कूलर price-Lohe ka Cooler Price in India )

अधिक से अधिक 180 स्क्वायर फिट एरिया के लिए सबसे अनुकूल यह loha ka cooler आपके लिए बेस्ट ऑप्शन हो सकता हैं जिसकी हवा फेकने की क्षमता 20 फिट तक हैं और 80 लीटर तक पानी स्टोर करने में सक्षम हैं ।

lohe-ka-cooler-price-in-india-2

3 स्पीड सेटिंग के साथ आनेवाला यह लोहा का कूलर आसानी से हवा को कंट्रोल किया जा सकता हैं । इसमें आपको turbo fan technolgy दिया गया है और साथ में honeycomb pad शामिल है है जो नेट के साथ आते हैं ।

इसके इनस्टॉल किया गया मोटर का rpm 1280 rpm हैं और एक घंटे उपयोग के दौरान 180 वाट बिजली का उपयोग करता हैं । इसे आसानी से सिंगल फेज , 220 volt पर कजलाया जा सकता हैं ।

इसके यदि डाइमेंशन की बात करे तो 60.96 cm x 142.24 cm x 38.1 cm हैं और साथ मोटर एवं water pump पर 3 महीने की वारंटी भी दी जाती हैं ।

इस lohe ke cooler में आपको यह पता चल गया होगा की 180 वाट की बिजली खपत करता हैं यदि इसे रोज 10 घंटे उपयोग किया जाए तो 10 X 180 = 1800 वाट होगा जो की महीने में 1800 X 30 = 54000 वाट आता है जिसे यूनिट में बदलने पर 54000/1000 = 54 यूनिट होगा यदि आपके घर में लगी बिजली के लिए लिए एक यूनिट पर 8 रूपए लिया जाते है तो 8 X 54 = 432 रूपए केवल इस lohe ke cooler के लिए देने पड़ेंगे ।

CHECK PRICE

लोहे का कूलर और फाइबर कूलर में क्या अंतर हैं ?

वैसे हम सभी जानते हैं है की lohe ka cooler को डेजर्ट कूलर के नाम से जाना जाता हैं इसलिए यह एयर कूलर फाइबर कूलर के मक़ाबले अधिक ठंडा हवा प्रदान करता हैं परन्तु हो सकता हैं कुछ साल पुराना होने के बाद यह आवाज़ फाइबर के मुक़ाबले ज्यादा करे ।

क्योंकि lohe ka कूलर मेटल का बना होता हैं इसलिए लगातार पानी के उपयोग से जंग लगने की संभावना बानी रहती हैं जिससे वाटर लीकेज की समस्या पैदा हो सकती हैं जिससे loha ka cooler  खराब हो जाता हैं लेकिन फाइबर वाले कूलर प्लास्टिक के बने होते है जिससे उनकी लाइफ बहुत ज्यादा होती हैं और जंग लगने का कोई समस्या नहीं होता हैं ।

हम सभी जानते है की cooler एक सीजन वाला प्रोडक्ट है जिसका गर्मी में सबसे ज्यादा इस्तेमाल किया जाता हैं इसलिए फाइबर कूलर को ज्यादा मरम्मत की जरुरत नहीं पड़ती हैं जबकि लोहे का कूलर को हर साल पेंट , जंग प्रूफ , लीकेज समस्या से जूझना पड़ता हैं ।

लोहा वाला कूलर आवाज थोड़े ज्यादा करते हैं और साथ में कम्पन्न भी करते हैं जिससे आपके आराम करने के दौरान असहज महसूस होता है जबकि फाइबर कूलर इस मामले में कोई ज्यादा परेशान नहीं करते हैं ।

फाइबर कूलर की एक खासियत यह हैं की आप चाहे जितना ज्यादा बड़ा साइज का कूलर पसंद करे आपको सबमे एक जैसा noise level मिलता हैं जबकि lohe ka cooler में जीतन बड़ा साइज होगा उतना ज्यादा आवाज पैदा करेगा ।

lohe ka cooler खरीदते समय किन – किन बातों का ख्याल रखें ?

फाइबर कूलर लेने के मुक़ाबले हमे lohe ka cooler खरीदते सावधानी बरतना पड़ता हैं जिसमे सबसे पहले यह की लोहे का कूलर लेते वक़्त उसके अंदर यह जरूर चेक करे की जंग लगा हुआ तो नहीं हैं

अक्सर ऐसा होता हैं पहले सीजन में सेल नहीं होने कारण जब अगले सीजन की बारी आती हैं तो जंग को छुपाने के लिए उसपर नए पेंट कर दिए जाते हैं और यह ज्यादातर लोकल कंपनी के साथ अधिक किया जाता हैं इसलिए थोड़े महंगे ही सही किसी अच्छे ब्रांड का लोहे कूलर ले

सभी कूलर के अंदर हवा पैदा करने के लिए heavy motor का इस्तेमाल किया जाता हैं जिसे cooler की बॉडी के अंदर नट – बोल्ट से फिक्स किया जाता हैं उन्हें भी चेक करना जरुरी हैं क्योंकि ढीला होने के वजह से ज्यादा आवाज करते हैं

lohe ka cooler खरीदते समय जरूर चेक करे की आखिर उसका स्विच किस जगह पर दिया गया हैं क्योंकि वह water tank और हवा फेकने वाले रस्ते से जितना दूर होंगे उतना अच्छा हैं क्योंकि लोहे की बॉडी होने के वजह से जरा सी भी करंट लीकेज होने के कारण पूरा कूलर के बॉडी में electricity प्रवाहित होने लगता हैं

अक्सर हमे लोहे का कूलर लेते समय एक चीज का ध्यान नहीं देते हैं जिसमे उसके अंदर इस्तेमाल किया जाने वाला tulu pump हैं जो पानी को ऊपर की तरफ ले जाता हैं इसलिए इसे भी जरूर चेक करे क्योंकि transport के समय loha का cooler को एक जगह से दूसरे जगह ले जाने के दौरान सबसे पहले tulu pump को नुक्सान होता हैं

उदाहरण के लिए या पाइप जगह से हैट जाने के वजह से पानी को ऊपर नहीं ले जा पाते हैं जिससे ठंडी हवा नहीं बन पाती हैं  इसलिए लोहे का कूलर लेते समय पानी के बाहव को जरूर चेक करे

Leave a comment