what is sip in hindi-sip full form in hindi-सिप मीनिंग इन हिंदी

दोस्तों आज हम इस लेख में meaning of sip in hindi के बारे में बात करने  के साथ sip ke fayde और sip ke nuksan क्या हो सकते है । सिप का इस्तेमाल कहाँ और क्यों किया जाता हैं यह किन लोगो के लिए सबसे ज्यादा उपयोगी है आदि सभी तरह की जानकारी आपको इस आर्टिकल में पढ़ने को मिलेगी इसलिए आपसे अनुरोध है की इस लेख को पूरा अवश्य पढ़े ।

  • sip meaning in hindi-सिप मीनिंग इन हिंदी

आपको बता दे की sip full form in hindi –  systematic investment plan होता है जो एक म्यूच्यूअल फण्ड का हिस्सा होता है । जिसका हिंदी अर्थ व्यवस्थित निवेश योजना है । अथार्त इसके नाम से ही पता चलता है की कोई ऐसी योजना जिसमे एक निश्चित समय पर पैसा इन्वेस्ट करके अपने पूंजी को बढ़ाना इसका मुख्य मकसद हैं । जो हर महीने , हर हफ्ते , हर साल कुछ भी सेट कर सकते हैं ।

वैसे तो बचत करने के कई सारे तरीके होते है जिसमे यदि मैं उदाहरण की बात करू तो बैंक में हर महीने RD किया जाता है शामे वही प्रोसेस म्यूच्यूअल फण्ड में होता है जिसे हम sip यानी की systematic investment plan in hindi के नाम से जानते है जो बैंक के RD के मुक़ाबले कई गुना ज्यादा स्ट्रांग है । जिसे आगे पढ़ने के बाद आपको मालूम चल जायेगा ।

यह उन लोगों के लिए सबसे ज्यादा कारगार है जो लोग अपने महीने के पूरा खर्च करने के बाद भी कुछ रकम बचा लेते है ऐसे में उन्हें इन्ही रकम को हर महीने sip में जरूर इन्वेस्ट करना चाहिए जिससे उनका पैसा बैंक के मुक़ाबले ज्यादा ब्याज देने में सक्षम है ।

about sip in hindi-(what is sip in hindi-sip full form in hindi-सिप मीनिंग इन हिंदी)

हम यह अक्सर सुना करते है की बून्द – बून्द जमा होकर ही किसी बड़े सागर का निर्माण होता है , सिप क्या है ठीक इसी के परिभाषा को परिपूर्ण करता हैं । निवेश के मामले में भी यह टॉपिक सबसे अहम् शाबित होती हैं ।

एक बात यदि हम जान ले की कभी भी कोई बड़ी राशि किसी फाइनेंसियल संस्था में इन्वेस्ट करके बड़ा पैसा जरूर बना सकते है लेकिन उसमे आम इंसान को कर्ज लेने के अलावे कोई दूसरा रास्ता सायद नहीं है ।

जिसमे आपके और मेरे आर्थिक जीवन पर जरुरत से ज्यादा बोझ पड़ने से हम कर्ज में दबते चले जायेंगे इससे नेहतर यही होगा की महीने की एक छोटी सी रकम बचाकर sip में इन्वेस्ट करे तो आने वाले 5 से 10 साल में हम लखपति या करोड़पति तक बन सकते हैं ।

sip बहुत ही कम नुक्सान और कुछ मामलों में टैक्स फ्री होने के साथ निवेश करने का सबसे सरल तरीका माना जाता है । जिसमे आप अपनी सुविधा अनुसार हर हफ्ते / महीने / साल आदि को चुनकर छोटी रकम इन्वेस्ट करते चले जाते हैं और एक लम्बी अवधि के बाद इंट्रेस्ट के साथ बड़ी रकम पा सके हैं ।

एक तय की गयी राशि को निरंतर किसी म्यूच्यूअल फण्ड , शेयर मार्किट , गोल्ड आदि में सिप करते रहने से आपका पैसा कुछ समय बाद बड़ा बन जायेगा यदि जिन्हे शेयर बाजार का जानकारी नहीं है उन्हें  निश्चित ही अपना पैसा म्यूच्यूअल फण्ड में लगाना चाहिए ।

क्योंकि इस क्षेत्र में सभी लोगों को ज्यादा जानकारी नहीं होती है इसलिए sip आपको नॉलेज बढ़ाने के साथ – साथ आपके पैसे भी दुगना करने का ताकत रखता है ।

  • monthly sip meaning in hindi-( sip kya hai )

अपने बचाये हुए छोटे – छोटे रकम को हर महीने किसी म्यूच्यूअल फण्ड में sip करते है तो वह पैसा आने वाले एक साल के बाद एक अच्छा मुनाफा हर महीने देने की काबलियत रखता है तो आइये जानते है यह किए संभव है ।

what-is-sip-in-hindi-sip-full-form-in-hindi-सिप-मीनिंग-इन-हिंदी-1

मान लीजिये किसी म्यूच्यूअल फण्ड में आप हर महीने 1000 रूपए का इन्वेस्ट कर रहे हैं जो की वह म्यूच्यूअल फन हर साल 12 % ब्याज देने में सक्षम है इसलिए मैंने एक साल का हिसाब निकालता हूँ जिसमे आपके द्वारा एक साल में 12000 रूपए जमा हो चुके होंगे जिसमे मैंने उस साल का ब्याज नहीं जोड़ा है ।

एक साल के बाद आपको हर महीने कम से कम 12000 रूपए पर 1 % का ब्याज जरूर मिलेगा जो 120 होगा जो हर महीने आपके जमा हुए 1000 रूपए के  साथ बढ़ता जायेगा लेकिन जरा सोचे आप अब 1000 रूपए नहीं 1120 रूपए जमा कर रहे हैं यहीं sip का सबसे मजबूत पक्ष हैं ।

sip मुख्य रूप से आम लोग के लिए त्यार किया गया है जो बड़ी रकम जूता तो नहीं सकते है लेकिन sip के जरिये एक बड़ी रकम तक पहुंच जरूर सकते हैं वो अपनी सुरुवात 100 रूपए से भी कर सकते हैं ।

हर महीने sip में निवेश करके आप उस म्यूच्यूअल फण्ड के nav प्रपात कर सकते है जो हर महीने आपके निवेश से बढ़ते जाता है जैसे मान लीजिये की किसी म्यूच्यूअल फण्ड का nav 100 रूपए है तो आप 1000 इन्वेस्ट करके 10 nav पा लेंगे ।

  • nav meaning in hindi

nav का हिंदी मीनिंग कुल संपत्ति का मूल्य  होता है जिसे इंग्लिश में net asset value कहते हैं । म्यूच्यूअल फण्ड में निवेश के पश्चात हमे सबूत के लिए nav दिए आते है जो समय के साथ बढ़ते एवं घटते रहते है ।

sip ke fayde aur nuksan-(what is sip in hindi-sip full form in hindi-सिप मीनिंग इन हिंदी)

किसी भी इन्वेस्टमेंट में फायदे और नुक्सान दोनों होते हैं लेकिन आपका चुनाव यदि सही हो तो रिजल्ट बेहतर होगा मेरा कहने का मतलब यह है की sip के लिए कौन सा म्यूच्यूअल फण्ड पसंद करे यह एक गंभीर विषय हैं जिसमे आपको बहुत छान – बिन करने की जरुरत पड़ेगी ।

  • sip ke fayde in hindi-एस आई पी के फायदे

1 ) सबसे छोटा निवेश 

जैसा हमे यह पता लग चूका है की sip में एक निश्चित अंतराल पर एक नियमित राशि का निवेश करना होता है इसलिए अपने खर्चे और दिनचर्या को ध्यान रखकर हम वो निवेश राशि जो की बहुत होती रकम है उसको निकलना आसान होता है ।

अब यह राशि कितना बड़ा बन सकता है सायद आपको इसका अंदाजा भी नहीं होगा तो चलिए उसको भी हल करने का प्रयाश करते हैं । मान लिए 10 % के ब्याज पर आपने 1000 का निवश परतेक महीने 15 साल के लिए किया हैं ।

आपका गोल पूरा होने के बाद को आपको 4, 14 , 470 रूपए मिलेंगे जिसे पाने के लिए आपने मात्र 1, 80 , 000 रूपए ही जमा किया है और इस राशि को 5 साल के लिए छोड़ेंगे तो दूना भी हो सकता हैं ।

2 ) निवेश करने में आसानी 

निवेश करने के दो तरिके है जिसमे पहला यह की आप को हर महीने जो रकम फिक्स किया उतना पैसा म्यूच्यूअल फण्ड में जमा करना पड़ता है और दूसरा यह है आपको अपना बैंक अकॉउंट उस म्यूच्यूअल फण्ड संस्था से लिंक कराना होगा जिसमे आप इन्वेस्ट कर रहे है इससे आपके जमा करने की दिक्कत दूर हो जाएगी और पैसा आपके बैंक अकॉउंट से हर महीने काटता रहेगा ।

3 ) जमा न करने पर क्या होगा -( what is sip in hindi )

अब आप सच रहे होंगे की किसी महीने किसी कारण से आप के पास जमा करने की राशि नहीं है तो दूसरे स्किम की तरह इसमें भी आपको फाइन के साथ राशि जमा करना पड़ेगा लेकिन ऐसा नहीं है आप उस म्यूच्यूअल फण्ड की वेबसाइट में लॉगिन होकर अपने स्किन को कुछ महीने या दिन के लिए रोक भी सकते हैं ।

4 ) रिस्क फ्री स्किम 

किसी बड़े राशि जमा करने के मुक़ाबले यदि छोटे – छोटे भाग में जमा किये जाए तो  रिस्क बहुत कम हो जाता है क्योंकि जब आप 5 क़िस्त तक पहुंचेंगे तब आपको यह जरूर मालूम चल जायेगा की आपका जमा किया हुआ पैसा बढ़ रहा है यह घाटे में है ऐसे में आप कोई फैसला भी ले सकते हैं ।

5 ) कम्पाउंडिंग का लाभ 

यह एक मुख्य विषय है जिसके बारे में मैं पहले भी बता चूका हूँ की जब भी आपके द्वारा निवेश किया जाता उससे जमा हुई राशि और उसपर मिलनेवाला ब्याज दोनों को रीइन्वेस्ट यानी की दुबारा जमा किआ जाता है जिससे निवसक का लाभ तेजी से बढ़ता है ।

6 ) sip से कब निकले 

sip में निवेशक अपनी सुविधा अनुसार  या तो जारी रख सकते है या फिर निकल सकते है यह पूर्ण रूप से निवेशक पर निर्भर है । अब आपको एक फायदे बताता हूँ मान लीजिये की आप कोई म्यूच्यूअल फण्ड में निवेश किया लेकिन तीन महीने बाद भी आपको लोस्स हो रहा है तो वहां से निकलकर किसी दूसरे फंड में पैसा डाल दे ।

आपके महीने में सारे खर्च निकालकर थोड़ा बहुत भी पैसा बच अहा है तो उसे जरूर इसी म्यूच्यूअल फण्ड में sip के जरिये हर महीने निवेश करना चाहिए ।

  • sip के नुकसान

सिप के कुछ नुकसान भी है जिसे आपको जानना बहुत जरुरी हैं क्योंकि जब भी आप हर महीने sip करते है तो हम सभी जानते है की इसका पैसा का आधा से ज्यादा हिस्सा सहरे मार्किट में लगाया जाता है ।

इसलिए शेयर मार्किट में उतार – चढ़ाव होते रहते है इसलिए sip के nav  का प्राइस भी कम या ज्यादा होना जाहिर सी बात है मेरा कहने का मतलब यह ही की sip के समय ऐसा चुनना चाहिए जब मार्किट गिर रहा हो जिससे आपको ज्यादा से ज्यादा nav मिल जयेगा ।

नहीं तो कहीं मार्किट चढ़ा है और आपने sip किया तो आपको nav बहुत महंगा मलेगा जिससे nav की संख्या पिछले महीने के मुक़ाबले कम प्राप्त होगा इसके लिए आप अपने एडवाइज़र इ इस विषय में जरूर बात करें ।

यदि आपके पास कोई बड़ा पैसा सिप के लिए है तो उसे कभी भी एक म्यूच्यूअल फण्ड में sip के लिए इन्वेस्ट नहीं करे बल्कि उस पैसे से 2 या 3 sip और वे सभी एक दूसरे से बिलकुल अलग हो उनमे इन्वेस्ट करे ।

क्योंकि एक समय जब कोई म्यूच्यूअल फण्ड परफॉर्म नहीं करेगा तब दूसरा जरुआ आपको बढ़िया रेतुर्न देगा नहीं तो एक जगह सारे पैसे इन्वेस्ट करते रहने से आपको नुक्सान होने का जोखिम बना रहेगा।

इससे आपको कौन सा mutual fund बढ़िया काम कर रहा है इसका भी पता लगा जायेगा जिससे फुरतुरे में आप उसमे अपना sip अमाउंट भी बढ़ा सकते है । और जो बढ़िया परफॉर्म नहीं कर रहे है उससे बाहर भी निकल सकते हैं ।

sbi sip plans in hindi

आज के समय में SBI Mutual Funds द्वारा कई स्कीम संचालित हैं, जिनका एक्सपोजर इक्विटी के अलावा डेट फण्ड में भी देखने को मिल जाता है. SBI Mutual Funds पर निवेशकों का भरोसा इतना ज्यादा पॉजिटिव है जिसे आप निचे म्यूचुअल फंड स्कीम के रिटर्न चार्ट को देखकर समझ सकते हैं-

एसबीआई  की कई म्यूचुअल फंड स्कीम ऐसी भी हैं जिसमे मात्र  एक साल के अंदर 50 से 70 % तक का रिटर्न दे दिया है. वहीं 5 साल की बात करे  तो इन्होंने निवेशकों का पैसा 3 गुना तक बढ़ा दिया है इसलिए हमने निचे  5 ऐसी स्कीम की जानकारी दी है जिसे आप अपने एडवाइज़र की सलाह के बाद खरीद सकते है ।

SBI BLUCHIP FUND ( 1 साल में 53 % रिटर्न )

इस स्किम ने 1 साल के अंदर  52.67 फीसदी रिटर्न दिया है. वहीं 5 साल में इस फंड का 14 % रिटर्न  रहा है. इस फण्ड में कम से कम 5000 रुपये का लुम्सुम लगा सकते हैं, वहीं 500 रुपये की हर महीने SIP की जा सकती है ।

यह स्कीम मुख्य तौर पर ICICI Bank , HDFC Bank, Infosys, HCL Tech के शेयरों में निवेश करती है.SBI ब्लूचिप फंड का 31 जुलाई 2021 तक का कुल एसेट्स 29444 करोड़ रुपये था, जबकि एक्सपेंस रेश्यो 0.97 फीसदी.

SBI LARGE AND MIDCAP FUND  (1 साल में 60 % रिटर्न )

1 साल में 60 फीसदी रिटर्न दिया है, जबकि 5 साल में 15 % रहा । इसमें एक बार में मिनिमम  5000 रुपये लगा सकते हैं, वहीं 500 रुपये की मिनिमम SIP की जा सकती है.

एसबीआई लार्ज एंड मिडकैप का 31 जुलाई 2021 तक एसेट्स 4543 करोड़ रुपये था और एक्सपेंस रेश्यो 1.36 % , यह स्कीम अपना फण्ड Page Industries,HDFC Bank,  ICICI Bank, State Bank of India और Infosys में निवेश करती है।

SBI SMALL CAP FUND – sip में निवेश कैसे करें sbi

इस फण्ड ने एक साल में 70 % का रिटर्न दे दिया है और 5 साल में 23 % तक का रिटर्न दिया है । इसमें भी आप लुम्सुम पैसा 5000 और सिप 500 रूपए से सुरु कर सकते हैं । इसका कुल एसेट 31 जुलाई 2021 तक 9629 करोड़ रूपए था

जबकि एक्सपेंस अनुपात 0.84 रहा है । यह अपना फण्ड का निवेश  Carborundum Universal, Elgi Equipments Engineering, Sheela फोम, JK Cement,और V-Guard Industries में करती है।

SBI FLEXICAP FUND – ( 1 साल में 53 % रिटर्न )

इसका 5 साल का रिटर्न 16 % रहा है और एक साल में इस फण्ड ने 53 % का रिटर्न दिया है इसमें आप लुम्सुम 1000 और सिप कम सेकमम 500 से सुरु का सकते हैं । इसका जुलाई 2021 में कुल एसेट 14346 करोड़ रूपए था ।

जबकि इसका एक्सप्सेंस रेश्यो 0.86 था और यह फण्ड अपना पैसे सहरे मार्किट के दिग्गज स्टॉक HDFC Bank,ICICI Bank,  , Infosys , HCL Technologies और State Bank of India में निवेश करती हैं ।

SBI FOCUSED EQUITY FUND 

इस फण्ड का सालाना रिटर्न 55 % और 5 साल का 18 % रहा है । इसका कुल एसेट जुलाई 2021 में 17847 करोड़ था जिसका एक्सपेसेंस अनुपात 0.72 है जो की बहुत ही कम है और यह फण्ड अपना पैसा का निवेश Alphabet IncMuthoot Finance, , HDFC Bank और Divi’s Laboratories में करती है ।

निष्कर्ष-(what is sip in hindi-sip full form in hindi-सिप मीनिंग इन हिंदी)

दोस्तों आपको मेरा यह लेख sip in hindi कैसा लगा हमे अपनी राय कमेंट के माध्यम से जरूर बताये और किसी दूसरे सवाल जिसके बारे में आपको जानना है उसे भी कमेंट में पूछ सकते है जिसका जल्द से जल्द उत्तर देने का प्रयाश किया जायेगा धन्यवाद ।

Leave a Reply