stocks kya hota hai-shares kya hota hai-शेयर क्या है-शेयर क्या होता है

दोस्तों आज हम share kya hota hai इसके बारे में विस्तार से जानेंगे जिसमे मैं आपको उन छोटी – छोटी जानकारी को आपके साथ साँझा करूँगा जो शेयर मार्किट में बहुत जरुरी है और यह हर उन नए निवेशक को तो इसके बारे में जरूर जानना चाहिए ।

लेकिन कुछ भी बताने से पहले एक जरुरी बात बता दू की यदि आप इन सभी दिए गए शब्द ( इक्विटी शेयर क्या है , इक्विटी मार्केट क्या है ,सेर बाजार क्या है , स्टॉक मार्किट क्या होता है , क्या है शेयर बाजार , सेयर मार्केट क्या है , शेयर मार्केट का रेट क्या है , भारतीय शेयर बाजार क्या है , शेअर बाजार के लिए अन्य नाम क्या है ) आदि को सर्च करके यहां आये है तो इन सभी का मतलब एक ही है जिसे हम आगे पढ़नेवाले हैं ।

  • स्टॉक क्या है- stock market kya hota hai

आज के समय में कोई अपने ऊपर बिज़नेस के मामले में रिस्क लेना पसंद नहीं करता है इसलिए किसी बिज़नेस को ग्रो कराने के लिए पूंजी सबसे अहम् स्थान रखता है लेकिन पूंजी कहाँ से इकठ्ठा हो यह एक सबसे बड़ा सवाल है ।

मान लीजिये आपने कोई नया बिज़नेस ओपन किया है जिसमे आपके पास मौजूद सारे पूंजी को उस बिज़नेस को सुरु करने में लगा दिया । एक या दो साल के बाद आपको महसूस हुआ की मेरा बिज़नेस बहुत अच्छा चल रहा है ।

तो इसे और ज्यादा बढ़ाने के लिए एके पास उतने पूंजी नहीं है तो ऐसे में आपके पास दो ही ऑप्शन है पहला की बांके से लोन ले जिसमे बहुत ज्यादा ब्याज देना होगा और दूसरा आप अपने कंपनी को शेयर मार्किट में लिस्ट कराए जो आपके लिए फायदेमंद होगा ।

  • स्टॉक मार्केट क्या है- stock market kya hai 

इसमें थोड़ा मेहनत तो लगता है परन्तु आपके पूंजी की जुगाड़ आसानी से हो जायेगा जिसके लिए आपको अपने बिज़नेस के बारे में और उसके सालाना रिटर्न के बारे में जानकारी साँझा करनी होगी तब जाकर आपको आपके कंपनी या बिज़नेस के लिए stock प्राइस तय किया जाता है ।

इन स्टॉक प्राइस को आम जनता के सामने पेश किया जाता है यदि आपका बिज़नेस वाकई में स्ट्रांग है और फ्यूचर में बढ़िया मुनाफा कमा सकती है तो आपके कंपनी के शेयर को लोगो द्वारा खरीदा जाने लगेगा जिसके बाद ख़रीदे गए शेयर या स्टॉक्स से आपकी पूंजी की कमी पूरी हो सकती हैं और इसे ही stock market कहा जाता है ।

stocks-kya-hota-hai-shares-kya-hota-hai-शेयर-क्या-है-शेयर-क्या-होता-है-1

स्टॉक मार्किट एक ऐसा जगह है जहां बहुत सारे कंपनी के शेयर ख़रीदे और बेचे जाते हैं । किसी कंपनी का स्टॉक खरीदने का मतलब यह होता है की आप उस कमपनी के साथ जुड़ गए जब कंपनी को मुनाफा होगा तो आपको फायदा होगा यदि नुक्सान हुआ तो अपने जिस भी भाव में शेयर खरीदा है उससे कम दाम में बेचना भी पड़ सकता है ।

ऐसा नहीं है आपका पैसा सभी कंपनी में डूब जायेगा कुछ कंपनियां ऐसी भी है जो काफी स्ट्रांग होती है जिसमे आपका पैसा लोस्स होने का खतरा कम रहता है जैसे रिलायंस , एशियन पेंट्स , विप्रो आदि में लोग आज से दस साल पहले पैसा लगाकर आमिर बन चुके है ।

अब अपने यह आर्टिकल पढ़ा और पैसा लगना सुरु कर दिया ऐसा बिलकुल भी करने की गलती नहीं करे क्योंकि शेयर मार्किट में एंटर करने से पहले स्टडी करना बहुत जरुरी है क्योंकि बिना कोई जानकारी के आपको बहुत बड़ा नुक्सान हो सकता हैं इसलिए stock market के प्रति अपने आप को तैयार होने का पूरा मौका जरूर दे ।

  • अच्छे स्टॉक कैसे मिलेगा -(stocks kya hota hai-shares kya hota hai-शेयर क्या है-शेयर क्या होता है)

उम्मीद है की शेयर मतलब क्या होता है यह आपको पता चल चूका है अब सवाल यह आता है की आखिर यदि आपको stock market में रूचि है तो वो कौन से उपाय है जिसके मदद से आप शेयर मार्किट में पहले से शामिल 4000 से भी स्टॉक में अच्छे स्टॉक कैसे छाटेंगे ।

यह काम थोड़ा मेहनत और चुनौती भरा है लेकिन मैं जो आपको उपाय बतानेवाला हु उसके मदद से और आपको और भी इस रह के ढेर सारे लेख इसी साइट पर मिल जायेंगे जिसे आप रीड करके अच्छा – ख़ासा जानकारी जुटा सकते है ।

तो अब बात करते है वो कौन सी दो ऐसी तकनीक है जिनके मदद से आप बढ़िया स्टॉक पसंद कर सकते है जिसमे आप अपने पैसे को कुछ्ह दिन या , महीने या फिर कुछ सालों के लिए इन्वेस्ट करके मुनाफा कमा सके ।

पहला है आपको टेक्निकल चार्ट में माहिर होना पड़ेगा जिसमे सभी स्टॉक के एक चार्ट को दर्शाया जाता जिसमे स्टॉक का भाव ऊपर या निचे की तरफ चढ़ता या गिरता रहता है यदि कोई स्टॉक को अपने खेड़ा और वह टेक्निकल चार्ट में ऊपर चला गया तो आपको मुनाफा होगा और नहीं तो वह ठीक इसके विपरीत यानी किनीचे गया तो आपको नुक्सान होगा ।

अब इसमें एक चीज अहम् है की आखिर आप कितना मुनाफा या फिर कितना लोस्स लेने की क्षमता रखते है क्योंकि यह ऐसा मार्किट है जहां फायदे और नुक्सान दोनों होते हैं । स्टॉक के चूणव में दूसरा तरीका फंडामेंटल का आता है ।

जिसमे आपको उस कमपनी के बायोडाटा या फिर उसके बैकग्राउंड का पता करना होता है यह भी स्टॉक मार्किट का अहम् हिस्सा है जिसे जानकार आप लम्बे अवधि के लिए अपना पैसा इन्वेस्ट कर सकते है ।

penny stocks kya hota hai- पैनी स्टॉक्स क्या होता है 

तो चलिए अब जानते है की penny stock kya hota hai और इसके खरीदने पर हमे क्या फायदा और नुक्सान है और साथ ही में पैनी स्टॉक्स कितने तरह के होते हैं जिसके बारे में जानना बहुत जरुरी है । इनका प्राइस बहुत ही कम होता है

यह वह स्टॉक होते है जिसमे रिस्क का आपात बहुत ज्यादा होता है यानी की नाम से ही पता चल जाता है की यह एक दर्द देने वाला स्टॉक है लेकिन फिर भी लोग अपना किस्मत आजमाने के लिए या फिर बहुत लम्बे समय के लिए इसमें इन्वेस्ट करते है ।

इस तरह के स्टॉक में पैसा लगाने का मतलब यह है की आप अपने पैसे या पूंजी पर बहुत ज्यादा जोखिम उठा रहे हैं इसलिए कोई भी समझदार इन्वेस्टरpenny स्टॉक में इन्वेस्ट करने से पहले उसका फंडामेंटल और टेक्निकल दोनों की अच्छी तरह एनालिसिस करने के बाद ही इन्वेस्ट करने का फैसला करता है ।

अब सवाल है की अहीर कितना इन्वेस्ट करना बेहतर हो सकता है तो दोस्तों इसमें बहुत सारे तर्क हो सकते है लेकिन एक शोध के अनुसार यह पता चला है की ज्यादातर लोग अपने इन्वेस्टमेंट का 2 % हिस्सा इसमें इन्वेस्ट करते क्योंकि वह यह मानकर चलते है की इसमें इन्वेस्ट किया हुआ पैसा वापस आ जाए तो किस्मत चमक जाए ।

  • पैनी स्टॉक्स के प्रकार – types of penny stocks in Hindi 

यह मुख्य रूप से दो तरह के हो सकते है पहला वो कमपनी है जो पिछले कुछ सालों में ही स्टॉक मार्किट में कदम रखा हुआ है जिसका स्टॉक प्राइस बहुत ही कम है और फ्यूचर में उसके परफॉरमेंस करने की क्षमता स्ट्रांग है ।

1 ) स्ट्रांग फंडामेंटल और टेक्निकल चार्ट वाले स्टॉक 

यह वह स्टॉक्स है जो सुरु से ही निरन्तर अपने निवेशक को साल दर साल प्रॉफिट देते आ रहे है लेकिन यह अभी अपने सुरुवाती दिनों में कमजोर और निवशक को लुभाने के लिए तरसते थे जिसमे उदाहरण के रूप में एसियन पेंट्स , रिलायंस , विप्रो आदि है ।

इसमें यदि विप्रो की बाते करे तो इसके बारे में सायद आपको स्टोरी मालुम हो की यह स्टॉक 1990 के पहले 10 या 5 रूपए से भी कम में ट्रेड कर रहा था और इस कंपनी के लोग पूंजी जुटाने के लिए घर – घर जाकर अपनी कंपनी का व्याख्यान करते थे ।

उन्ही में से एक गांव का आदमी उसके बातों में आकर उसके स्टॉक को खरीद लिया लेकिन उसे शेयर बाजार का कोई जानकारी नहीं था लेकिन जैसे ही समय बिता 15 साल के बाद जब उसने उस स्टॉक के बारे में याद आया ।

जब  पता लगाया तो वह लाख पति बन चूका था क्योंकि उसका 1 या दो रूपए का ख़रीदा हुआ स्टॉक का भाव 250 रूपए के ऊपर जा चूका था । इस तरह के स्टॉक को maltbagger स्टॉक भी कहा जाता है ।

2 ) करेक्शन और बैड परफॉरमेंस वाले स्टॉक – (stocks kya hota hai-shares kya hota hai-शेयर क्या है-शेयर क्या होता है)

यह स्टॉक वे होते है जो सुरुवाती कुछ साल तक तो बढ़िया परफॉरमेंस देते है लेकिन आये दिन उनमे कुछ न कुछ बुरे खबर या कंपनी का लगातार सालाना नुक्सान होना आदि से निवेशक निकलना सुसु कर देते है ।

क्योंकि कोई भी इस तरह के स्टॉक में रुकना पसंद नहीं करता है जैसे rcomm का स्टॉक जिसके मालिक अनिल अम्बानी है आपको बता दे की इसका स्टॉक का प्राइस आज से दस साल पहले 1000 रुपए से भी कर था लेकिन आज इसका प्राइस 3 से 4 रूपए तक गिर चूका है ।

जिसमे आप यदि 300 रूपए भी इन्वेस्ट करते है तो आप इस कंपनी के के 100 सटक के मालिक बन जायेंगे लेकिन आगे आने वाले दिनों में इस कंपनी के साथ क्या होगा यह किसी को नहीं पता है यदि कमपनी चलती है और फिर से यह अपने सबसे आल टाइम हाई वाले प्राइस पर आता है तो आपका एक शेयर का वैल्यू जो की पहले 3 रूपए था वह 1000 तक का हो सकता है ।

इसी प्रकार एक और स्टॉक के बारे में जान लेते है जिसका नाम pnc है जिसका पूरा नाम pritish nandy communication है इस स्टॉक की लिस्टिंग 2000 में हु थी तब इसका प्राइस 190 रूपए था लेकिन स्ट्रांग नहीं होने के वजह से यह गिरता चला गया जो 15 रूपए तक पंहुचा चूका था ।

फिर वहां से इसने रिवर्स किया जो 110 रूपए तक ही जा स्का फिर उसके बाद से उसने जो करेक्शन किया फिर वह स्टॉक कभी अपने आल टाइम हाई तक नहीं पंहुचा और 2020 के महामारी में यह स्टॉक 5 रूपए पर था लेकिन आज के इस स्टॉक का प्राइस जानकार आप हैरान हो जायेंगे जो की 65 रूपए तक जा चूका है ।

शेयर होल्डिंग क्या होता है- share holding kya hota hai 

जब हम कोई शेयर अपने पैसे से ट्रेडिंग सेसन का दौरान खरीदते है और फिर हमे लगता है की यह शेयर आने वाले कुछ दिनों तक बढ़िया मुनाफा देगा यह सोचकर उसे अपने डीमेट काटे में ट्रांसफर कराते है तो उस स्थिति में स्टॉक को हम अपने पास कुछ दिनों के लिए रखते जिसे हम share holding के नाम से जानते है जिसके लिए हमे कुछ पैसे भुगतान भी देने होते हैं ।

यदि आप किसी दिन स्टॉक खरीदते है और उस दिन आपको प्रॉफिट आपके मुताबिक आ जाता है तो आप बेच भी देते है तो आपको चार्जेज कम देने होए है क्योंकि आपने स्टॉक को होल्ड  नहीं किया है ।

लेकिन जब आप स्टॉक या शेयर को होल्ड करते है तो सबसे पहले आपसे D.P चार्जेज लिए जाते है जो 1 से 20 रूपए तक हो सकते है और कुछ टैक्स भी लिए जाते है जो आपके स्टॉककान्तित्य के ऊपर निर्भर करता है ।

मान लीजिये किसी स्टॉक का प्राइस 100 रूपए है जिसका 50 क्वांटिटी आपने कुछ दिनों के लिए होल्ड किया है और उसमे मुनाफा होने पर आप उसे 105 रूपए में बेच देते है तो ऐसे में आपको कुल 28 रूपए टैक्स देने  होंगे ।

वही दूसरी तरफ यदि स्टॉक का सेम वॉल राखु तो मान लीजिये आपने जिस दिन लिया उसी दिन बेच दिया तो आपको 5 रूपए तक टैक्स देने पड़ सकते है उम्मीद है आप शेयर होडिंग्स का मतलब जान चुके होंगे ।

निष्कर्ष  

आपको मेरा यह लेख stock market क्या है कैसा लगा हमे अपनी राय कमेंट में जरूर बताये और किसी दूसरे तरह के स्टॉक मार्किट से जुड़े सवाल या जानकारी प्राप्त करने के लिए भी  कमेंट कर सकते है जिसका जवाब जल्द देने के प्रयाश किया जायेगा धन्यवाद ।

Leave a Reply