moving average indicator in hindi-moving average hindi

moving average indicator in hindi-moving average hindi

दोस्तों इस लेख में आज हम moving average के बारे में बात करने वाले हैं जो शेयर मार्किट का सबसे पुराना एवं अभी तक सबसे ज्यादा उपयोग किया जाने वाला इंडिकेटर हैं जिसे हर नए निवेशक को इसके बारे पता होना चाहिए ।

आप जानकर हैरान होंगे की केवल मूविंग एवरेज के तर्ज पर ही कितने सारे इंडिकेटर को खोज निकाला गया हैं जिसमे macd , bolinger band मुख्य इंडिक्टर हैं जिसमे macd में 13 और 26 expontial मूविंग एवरेज का इस्तेमाल होता है और bollinger band में 20 moving average का उपयोग किया जाता हैं ।

वैसे मैं इसके ज्यादा डीप में जाकर कुछ नहीं बताना चाहता हूँ क्योंकि इसे आज सिंपल तरीका से समझेंगे और अंत में किन्ही दो अलग – अलग दिने के मूविंग एवरेज को चार्ट में लगाकर एक swing trading लेने का प्रयाश करंगे और देखेंगे की क्या इससे कोई ट्रेड लिया जा सकता हैं ।

moving average एक तरह से पिछले दिन का क्लोजिंग प्राइस को जोड़कर बनाया जाता हैं । जिसमे मान लीजिए की हमे कोई 10 दिन का मूविंग एवरेज सेट करना हैं है तो असल में वह पिछले 10 का क्लोजिंग प्राइस को जोड़कर उसमे 10 से भागा देकर बनाया जाता हैं ।

लेकिन आज के समय में थोड़ा एडवांस मूविंग एवरेज का इस्तेमाल हो रहा है जिसे हम exponential moving average कहा जाता हैं जिसमे मौजूदा दिन के प्राइस को पिछले दिन के औसत प्राइस को जोड़कर एक चौरसाई तकनीक से बनता हैं । इसलिए मैं जो ट्रेड के लिए मूविंग एवरेज का प्रयोग करूँगा वो exponential moving average होगा ।

मूविंग एवरेज-moving average kya hota hai

उम्मीद है आप मूविंग एवरेज के बारे में जान चुके होंगे लेकिन अभी यह जानना जरुरी है की आखिर शेयर  मार्किट में मूविंग एवरेज क्यों और कैसे उपयोग किया जाता और कौन इसे सबसे ज्यादा उपयोग करता हैं

1 ) किसी भी शेयर में मुख्य 3 तरिके का ट्रेड सबसे ज्यादा देखने को मिलता हैं जिसमे अपट्रेंड , डाउनट्रेंड एवं साइडवेस मार्किट और तीनो को पता करने के लिए आपको कोई न्यूज़ , कोई एनालिसिस या फिर रोज किसी शेयर का रिकॉर्ड रखने का जरुआत नहीं है । क्योंकि सिर्फ moving average इन तीनो ट्रेंड को एक झलक में बता सकता हैं ।

2 ) जिस तरह 3 तरह का ट्रेंड सबसे ज्यादा इस्तेमाल किया जाता है ठीक उसी तरह शेयर मार्किट में 3 तरह के लोग सबसे ज्यादा एक्टिव होते है जिसमे पहला intraday वाले इन्वेस्टर जो सबसे ज्यादा 15 के अंदर मूविंग एवरेज इस्तेमाल करते है ।

moving-average-indicator-in-hindi-moving-average-hindi-1

दूसरा swing trader जिसमे इन्वेस्टर सबसे जड़ 20 से 50 के ऊपर वाले मूविंग एवरेज का प्रयोग करते हैं एवं अंत में तीसरे इन्वेस्ट्रर जो सबसे ज्यादा 20 से 200 से ऊपर वाले मूविंग एवरेज का इस्तेमाल करते हैं ।

3 ) जो लॉन्ग शेयर मार्किट में अपना लॉन्ग पोस्टिव बनाना चाहते है उन्हें 50 , 100 , और 200 मूविंग एवरेज की सबसे ज्यादा जरुआत होती हैं क्योंकि जब भी इन मूविंग एवरेज के पास कोई शेयर प्राइस आता है तब या तो इन्वेस्टर एंटर करते है यह अपना सौदा बेचते हैं यह निरन्तर चलता रहता हैं

4 ) 50 दिन का मूविंग एवरेज को सबसे ज्यादा अहमियत दिता जाता है , जब कोई शेयर इस मूविंग प्राइस के ऊपर होता है तो उसे अपट्रेंड उस शेयर में बिकवाली चलती हैं और यदि मूविंग एवरेज बिच में है और प्राइस ऊपर निचे चल रहा है तो उसे साइडवेस मार्किट के नाम से जानते है

moving average crossover strategy in hindi

अब हम यह जान लेते है की आखिर किस तरह से मूविंग एवरेज से कोई शेयर ख़रीदा जा सकता हैं तो इसके लिए 50 दिन का मूविंग एवरेज को इस्तेमाल करेंगे जो हमे किसी शेयर का ट्रेंड के बारे में बताएगा ।

लेकिन मार्किट में कब क्या हो जाए कोई बता नहीं सकता हैं लेकिन अध्यन के अनुसार 50 दिन के मूविंग एवरेज के ऊपर किसी शेयर का प्राइस होने पर लोग सबसे ज्यादा खरीदने की तरफ जाते है और जब कोई स्टॉक इस लीन के निचे होता है तो हमे शेयर खरीदने से बचना चाहिए ।

सिर्फ स्टडी के लिए मैं आपको मूविंग एवरेज के बारे में बता रहा हूँ इसलिए यह लेख कोई शेयर खरीदने के लिए बाध्य नहीं करता हैं इसलिए बेहतर यही होगा की शेयर खरीदने से पहले अपने अडवाइजर से सलाह जरूर ले ।

एक बात और जान लेते है की कोई भी इंडिकेटर आपको सौ प्रतिसत शेयर में प्रॉफिट नहीं दिला सकता हैं और किसी एक इंडिकेटर के बदौलत भी कोई शेयर खरीदा नहीं जा सकता हैं इसके साथ और भी कई सारे इंडिकेटर यह फ़ण्डामेंटल , न्यूज़ एलिमेंट आदि जोड़ने होते हैं इसलिए इन सभी चीजों को भी जरूर एनालिसिस करना चाहिए ।

यदि आप नए है और चार्ट को जरा सा भी देखने आता हैं है तो आप कोशिस कर सकते हैं नहीं तो जिन्हे candlestick या फिर CHART के बारे में पता नहीं है तो उन्हें मेरे पिछले आर्टिकल जरूर पढ़ना चाहिए जिससे आपको बहुत कुछ सिखने को मिल सकता हैं । ध्यान रखें कभी भी सिद्वेस मार्किट में कोई ट्रेड ना ले इसके लिए चार्ट को बड़ा करके जरूर देखें ।(moving average indicator in hindi-moving average hindi)

मूविंग एवरेज से कोई शेयर कैसे खरीदें 

सबसे पहले हम इसके लिए दो तरह का मूविंग एवरेज का प्रयोग करेंगे जिसमे पहला 50 दिन का होगा और दूसरा 20 दिन का एक्सपोनेंशियल मूविंग एवरेज होगा और चूँकि हम स्विंग ट्रेड लेने जो कुछ दिन का होगा इसलिए टाइम 1 घंटे का होगा ।

निचे इमेज में मैंने लाल रंग के मूविंग एवरेज को 20 दिन का दिखाया हैं और कला वाला मूविंग एवरेज 50 दिन का exponential moving average हैं इस तरह का चार्ट आप भी अपने ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म पर लगा सकते हैं ।

moving-average-indicator-in-hindi-moving-average-hindi-2

जब लाल वाली लाइन बालक वाली लाइन को ऊपर की तरफ क्रॉस करेगी तब हमे उस शेयर को खरीदना हैं लेकिन उसके लिए कोई बड़ा कैंडल पर ट्रेड ना ले यदि कोई बड़ा कैंडल बन भी रहा है तो कुछ समय इंतजार करे फिर से प्राइस मूविंग एवरेज के पास आएगा जैसा की इमेज में देख सकते है आपको कम से कम बार शेयर खरीदने का मौका मिला हैं और लाल रेखा को बार – बार छूकर प्राइस ऊपर जा रहा हैं ।

चूँकि यह swing ट्रेडिंग है इसलिए प्रॉफिट 2 से 3 % से ज्यादा का नहीं रखेंगे और ऐसे मौके आपको सहरे मार्किट में बहुत सारे मिलेंगे बस आपको अच्छे से रोज समय निकाल कर इस तरह के चार्ट को खोजना हैं जिसके लिए आप nifty 50 या nifty 100 या फिर nifty bank के शेयर का चुनाव करे ।

निष्कर्ष (moving average indicator in hindi-moving average hindi)

आशा करता हूँ की आपको मेरा यह लेख moving average in hindi पसंद आया होगा यदि आपके कोई सवाल या फिर राय हो तो उसे कमेंट के माध्यम से जरूर बताया जिसका उत्तर जल्द से जल्द देने का प्रयाश किया जायेगा धन्यवाद ।

pivot point meaning in hindi

marubozu candlestick pattern in hindi

doji candlestick pattern in hindi-doji meaning in hindi-दोजी पैटर्न

hammer candlestick pattern in hindi-hammer pattern in hindi

all candlestick patterns pdf in hindi download-शेयर मार्किट कैंडल चार्ट इन हिंदी

 

Leave a comment