1 switch 2 pin socket connection kaise kare

1 switch 2 pin socket connection kaise kare

क्या आप एक स्विच और दो फाइव पिन सॉकेट को बनाना चाहते हैं और आपको यह नहीं समझ आ रहा है की इसका connection आखिर कैसे करे तो मैं आपको आज इसके कनेक्शन के बारे में बताने वाला हूँ जिसे आप जानकार अच्छे से कनेक्शन करना सिख जायेंगे ।

यह आईडिया इतना आसान हैं की आप एक बार सिखने के बाद कभी नहीं भूलेंगे यह मेरा वादा है । लेकिन इसको बनाने से पहले आपको कुछ महत्वपूर्ण तथ्यों पर ध्यान देना होगा क्योंकि यह बिजली का सवाल है इसलिए थोड़ी सी भी गड़बड़ी आपके बोर्ड को जला सकती हैं इसलिए इसको बनाने से पहले कुछ सावधानिया बहुत जरुरी हैं ।

  • इसे बनाने के लिए हमे एक बॉक्स की जरुरत होगी जो आपको किसी भी बिजली दूकान में आसानी से मिल जायेगा ।
  • इसके बाद दो फाइव पिन सॉकेट की अव्सय्कता होगी और इसके दाएं तरफ पॉजिटिव जोड़ेंगे और बाए तरफ हम नेगेटिव  को जोड़ेंगे ।
  • अब एक आखिरी स्विच को लेना होगा जिससे किसी भी electric device  को चलाते वक़्त बंद या चालू किया जा सके ।

1-switch-2-pin-socket-connection-kaise-kare-1

नोट –(1 switch 2 pin socket connection kaise kare)

याद रहे की आपका लोड यदि 6 एम्पेयर से ज्यादा हैं तो इससे ज्यादा एम्पेयर के पार्ट्स लगाने पड़ेंगे इसलिए इस बात का ध्यान जरूर रखें और मैं जो आपको switch के बारे में बता रहा हूँ वो 6 ampere का हैं जिससे आप कोई भी mobile charger , fan , light , tv , laptop charger , mixer , आदि । को आसानी से जोड़कर चला सकते हैं ।

watt device 3 switch 1 socket

one switch two socket connection diagram

1-switch-2-pin-socket-connection-kaise-kare-2

जैसा की आप ऊपर इमेज में देख सकते हैं की मैंने positive wire  को केवल स्विच में जोड़ा हुआ हैं । न्यूट्रल को मैंने फाइव पिन सॉकेट के बाए तरफ जोड़ा हैं आप ठीक इसी तरह कनेक्ट कर सकते हैं और स्विच का दूसरा सिरा जो अभी तक बचा हुआ था उसको मैंने दोनों बचे फाइव पिन के दाहिने साइड में जोड़ दिया । इस तरह हमारा सर्किट बनकर तैयार हो गया ।

अब इसे घरे के बिजली के साथ जोड़ेंगे तो हमारा यह सिंपल सा दिखने वाला सर्किट काम करना स्टार्ट कर देगा । जैसे ही हम इसमें सप्लाई देंगे तो इस electric board में करंट आने लगेगा लेकिन हमने इसमें एक स्विच भी लगाया है इसलिए पहले पॉजिटिव करंट उसमे पहुंचेगी और हमारी न्यूट्रल करेंट फाइव पिन से डायरेक्ट कनेक्ट है और जैसा की हम जानते हैं की इसको छूने से कोई करंट नहीं मरता है इसलिए इसको हम हमेशा फाइव पिन में डायरेक्ट लगा देते हैं ।

पहसे को ऑप्शनल की तरह इस्तेमाल करते हैं कहने का मतलब यह हैं की जब हमको उसे इस्तेमाल करना होगा या कोई device चलानी होगी तभी स्विच को निचे की तरफ करेंगे और फेज से बोर्ड में सप्लाई आने लगेगी और हमारा लगा हुआ डिवाइस भी काम करने लगेगा । इसी सेम बोर्ड में हम एक और कनेक्शन कर सकते हैं यदि आपको वो पसंद ना आये तो इस तरह भी आप अपने electric board wiring  कर सकते हैं । जिसकी इमेज आपको निचे मिलेगी ।

bijli board ka connection kaise kare ?1 switch 1 socket  connection 

 

1 switch 2 pin socket connection(1 switch 2 pin socket connection kaise kare)

1-switch-2-pin-socket-connection-kaise-kare-3

अब आप जरा इस इमेज को देखिये जहाँ मैंने कुछ बदलाव किये हैं उसको मैंने एक तीर के द्वारा संकेत किया है आप चाहे तो इस तरह का भी सर्किट बना सकते हैं इसमें फर्क बस इतना हैं की एक five pin का connection  स्विच पर है और जब हम स्विच को ऑन करेंगे तो उस सॉकेट में लगी हुई कोई डिवाइस भी ऑन हो जाएगी लेकिन ठीक इसके दूसरे तरफ वाले फाइव पिन में जबकि कोई कंट्रोल करने के लिए स्विच नहीं लगी हैं इसलिए उसमे कोई भी electronic device  को लगाएंगे तो वह तुरंत चालू हो जाएगी क्योंकि उसका कनेक्शन neutral और phase के साथ डायरेक्ट जोड़ा गया हैं ।

यदि मान लीजिये की आपको एक ही सके की जरुरत पड़ती है फिर कोई ऐसा डिवाइस है जिसे आप 24 घंटा चलाते हैं तो इस सर्किट डायग्राम का उपयोग कर सकते हैं जो केवल एक से डिडक्ट चलेगा और दूसरा को स्विच द्वारा कंट्रोल कर सकते हैं ।

electric board wiring karne ka tarikawater level controller 

 

  2 pin 1 switch  socket connection for inverter 

socket-connection-for-inverter

अब जरा इस इमेज को ध्यान से देखिये हालाँकि यह ऊपर दिए गैर बोर्ड की तरह काम नहीं करेगा क्योंकि इसका डायग्राम इन्वर्टर को लाइन से जोड़ने के लिए बनाया गया हैं इसलिए इसे इन्वर्टर बोर्ड भी कहते हैं यदि आप inverter board बनाना चाहते हैं तो इस सर्किट की तरह अपने बनाये गए बोर्ड में वायरिंग कर सकते हैं यह सौ परसेंट काम करेगा ।

inverter में जो आउटपुट होते है वो ऊपर पिले रंग से दर्शाये गए सॉकेट में कनेक्ट होंगे और इन्वर्टर के मैन तार को ठीक उसके बगल वाले सॉकेट में लगाएंगे और हम जानते हैं की न्यूट्रल का कनेक्शन एक ही रहता हैं यदि इसका आप प्रूव देखना चाहते हैं तो इन्वर्टर के मैन तार का न्यूट्रल और उसके आउटपुट वाले सेक्शन का न्यूट्रल जब एक कन्टीन्युटी द्वारा चेक करेंगे तो दोनों एक ही बताएगा इसलिए वायरिंग में भी उसको अलग से नहीं जोड़ा जाता हैं और नहीं जोड़ने का कारन भी है की तार की भी बचत हो जाती हैं ।

extension board kaise banaya jata hai

इसके बाद अब हम इसके कार्य के बारे मे बात करेंगे जैसे ही स्विच को ऑन करंगे तो हमारा inverter charge लेना स्टार्ट कर देगा और चालू अवस्था में आ जायेगा मान लीजिये की आपके सहर में बिजली ज्यादा देर तक रहती हैं तो आप इसमें दिए गए स्विच का इस्तेमाल करके inverter को फुल चार्ज होने के बाद बंद कर सकते हैं । इससे आपकी बिजली की खपत कम होगी और आपके मन में एक सवाल होगा की क्या स्विच बंद कर देने से इन्वर्टर का सप्लाई भी बंद हो जायेगा इसका जवाब हैं नहीं , आपका केवल इन्वर्टर का चार्जिंग बंद होगा इन्वर्टर का सप्लाई ऑन रहेगा क्योंकि उसका wiring हमने अलग से किया हुआ हैं ।

Leave a comment