inverter in hindi-इन्वर्टर की जानकारी

inverter in hindi-इन्वर्टर की जानकारी

यह  इलेक्ट्रिक डिवाइस है जो बैटरी के dc वोल्टेज को ac  में कन्वर्ट करता हैं जिससे हम घर में बिजली के चले जाने पर इसका इस्तेमाल कर अपने घर में लगे तमाम इलेक्ट्रिक डिवाइस को चला सकते हैं उसे ही inverter कहते हैं 

 जब भी गर्मी आती हैं तब बिजली विभाग वाले बिजली में कटौती करना चालू कर देते हैं और इसलके वजह से हमे गर्मी में ज्यादा पावर कटाई की समस्या से जूझना पड़ता हैं और ऐसे इस परेशानी से बचने के लिए हमे मात्र एक ही विकल्प नजर आता है और वो है इन्वर्टर जिसकी आज हम बहुत ही सिंपल ढंग से चर्चा करने वाले हैं ।

गर्मी को झेलने के लिए इससे बढ़िया और कोई दूसरा रास्ता नहीं हैं इसलिए कंपनी वाले भी अपने कस्टमर के जरुरत को ध्यान में रख कर बहुत सारे वेराइटी में इन्वर्टर और battery को मार्किट में बेचने के लिए उपलब्ध कराते हैं इसलिए आप भी अपने जरुरत के हिसाब से अपने इन्वर्टर का चुनाव कर सकते हैं 

इन्वर्टर के प्रकार(inverter in hindi-इन्वर्टर की जानकारी)

inverter-in-hindi-इन्वर्टर-की-जानकारी

यह मुख्य रूप से तीन  तरह के होते हैं –

1 – modified sine wave inverter in hindi 

इस इन्वर्टर में कम electric componenet लगे होते है जिसके वजह से इसका price कम होता है और साथ में यह बिजली की खपत भी ज्यादा करते हैं । इसके हम ज्यादा लोड भी नहीं दे सकते हैं ।

inverter-in-hindi-इन्वर्टर-की-जानकारी-1

और जब 12 वोल्ट बैटरी से 22o वोल्ट ac कन्वर्ट होती हैं तो यह ठीक तरह से फ़िल्टर नहीं कर पाता है जिससे हमारे घर में लगे डिवाइस के खराब होने चांस ज्यादा बढ़ जाते हैं ।

2 – pure sine wave inverter in hindi 

inverter-in-hindi-इन्वर्टर-की-जानकारी-2

यह इन्वर्टर हमारे लिए सबसे परफेक्ट होता हैं बिजली खपत के कम होने के साथ , यह बैटरी बैकअप को भी इनक्रीस करता है जिससे हमारा घर के डिवाइस ज्यादा देर तक चल सकें ।

इन्वर्टर eco mode क्या है inverter kitna watt ka hota hai

इसके अंदर बहुत सारे डिजिटल इलेक्ट्रिक बोर्ड लगे होते हैं जो प्योर ac की सप्लाई  देने में मदद  करते हैं और साथ में इसके फंक्शन भी ज्यादा होते हैं जिसका हम चुनाव कर अपने बैटरी की लाइफ को भी बढ़ा सकते हैं ।

3 – solar inverter in hindi 

inverter-in-hindi-इन्वर्टर-की-जानकारी-3

सिर्फ आपको जानकारी हो इसलिए मैं आपको इस इन्वर्टर के बारे में बता रहा हूँ यदि आपके पास सोलर पैनल है तो आप इस इन्वर्टर को ले सकते है । सोलर पैनल से आ रहे dc वोल्ट को फ़िल्टर करके बैटरी को चार्ज करता हैं

और आप ऐसा समझ सकते हैं की यह सूर्य की रोशनी से बैटरी को चार्ज करता हैं । लेकिन इसमें भी आपको बहुत सारे फंक्शन दिए हुए होते हैं यह बिजली से भी बैटरी को चार्ज करने में सक्षम है और इसके एक आटोमेटिक फंक्शन है जब धुप नहीं रहेगी तो यह बिजली से बैटरी को चार्ज करने लगता हैं ।

इन्वर्टर कौन सा  खरीदें 

इन्वर्टर को खरीदने से पहले  और बिजली के ना रहने पर आपको कौन – कौन से इलेक्ट्रिक डिवाइस चलने हैं उसे पहले जोड़ कर उसको वाट में कन्वर्ट कर ले जैसे एक्साम्प्ल के लिए मान लीजिये की मुझे बिजली के नहीं रहने पर 5 led 9 watt का जलाना है , 3 पंखे है जो 70 वाट ऊर्जा की खपत करते हैं , एक टीवी है जो 150 वाट खाता हैं ।

BUY BEST INVERTER LIST IN OFFER PRICE

इस रेश्यो के हिसाब से मुझे कितना पावर का इन्वर्टर लेना होगा ये मैं अब आपको बताता हूँ और साथ में इतना ध्यान रखें की ऊपर दिए ये सारे वैल्यू एक घंटे में ही काउंट होते हैं ।

  • led- 9w x 5  = 45 वाट  
  • fan- 3 x 70w= 210 वाट 
  • tv – 1 x 150w = 150 वाट 

इस तरह से हमे  जो वैल्यू मिला वो 405 वाट है । अब हमे मालून हो गया है  की हमे 405 वाट के ऊपर इन्वर्टर को खरीदना है लेकिन कंपनी वाले इन्वर्टर को VA यानि volt-ampere के वैल्यू पर इन्वर्टर को बेचते हैं

इसलिए इसे भी हमे वाट में बदलना होगा तो इसका भी एक फॉर्मूला आता हैं जो की जितना भी va वाला इन्वर्टर होगा उसमे हम यदि 0.8 से गुना करेंगे तो हमे वाट की वैल्यू मिल जाएगी ।

जैसे की मान लीजिये मैंने कोई इन्वर्टर चुना जो 700 va का हैं और इसमें मैं जब 0.8 से गुना करूँगा तो 560 वाट मुझे प्राप्त होगा जो मेरे लिए बहुत बढ़िया हैं । फ्यूचर में मान लीजिये की मुझे और भी  led या पंखे बढ़ाने पड़े तो ऐसे में ज्यादा वाट के ही इन्वर्टर को खरीदें ।

एक यूनिट में कितना रूपया ?repair ups battery

inwater in hindi-invertor in hindi-inverter hindi

ऊपर बताया गया सभी तरह का इन्वर्टर जनरल पर्पस की केटेगरी में आते है लेकिन कुछ इन्वर्टर मार्किट में ऐसे भी बिकते है जो हैवी लोड को झेलने में सक्षम होते है यानी की उस तरह के इन्वर्टर में आप gyeser और ac तक को भी बड़े आसानी से चला सकते हैं और उसके कुछ उदाहरण निचे दिए गए हैं ।

हाई-लोड-वाले-इन्वर्टर

यदि मैं मिक्रोटेक कंपनी की बात करू तो यह कंपनी बहुत सारी वेराइटी में हाई लोड वाले इन्वर्टर मार्किट में बेचता है जिसकी सुरुवात 2kva से होती है और इसमें 2 बैटरी का सपोर्ट देना होता है और वो भी सीरीज में जिससे इसका वोल्टेज 12 volt से बढ़कर 24 volt हो जाती है

ठीक इसी तरह 3 kva में 3 बैटरी और 4 kva 4 बैटरी इनस्टॉल करना होता है । और इन सभी का वोलटेज रेंज बढ़ता चला जाता है जैसे 3kva इन्वर्टर में बैटरी का मान 36 वोल्ट और 4 kva में 48 वोल्ट हो जाता है । बस आप इतना जान जाईये की जितना ज्यादा लोड का इन्वर्टर लेंगे उतना ही ज्यादा बैटरी लगाना होगा ।

Microtek UPS JMSW 2.2KVA 24V

1 ) इस इन्वर्टर का दाम 15000 रूपए है जिसे आप अमेज़न से खरीद सकते हैं ।

2 ) इस इन्वर्टर में एक ac को आराम से चलाया जा सकता है जो 1 टन तक का हो सकता है

3 ) इसमें डबल बैटरी की जरुरत होती है जिसको यह 2.2 kva यानी की 2000 watt 220 वोल्ट ac current में कन्वर्ट करता है

4 ) इसके कुछ ख़ास फीचर भी है जिसमे स्मार्ट ओवरलोड सेंस, शॉर्ट सर्किट और ओवर टेम्परेचर प्रोटेक्शन, पीडब्लूएम नियंत्रित मल्टीस्टेज एटीएम (ऑटो ट्रिकल मोड) चार्जिंग आदि ।

5 ) यह एक साल की वारंटी के साथ आता है

Microtek UPS JMSW 3.7KVA 48V Pure Sinewave

इस इन्वर्टर का प्राइस 20000 रूपए है जिसे आप अमेज़न से खरीद सकते हैं ऊपर  बताये गए इन्वर्टर के मुक़्क़ाबले इस इन्वर्टर में दो एक टन वाले ऐसी को आसानी से चला सकते हैं बिजली रह या ना रहे इससे कोई दिक्कत नहीं है बस इसमें लगा सीरीज में 3 बैटरी फुल चार्ज रहना जरुरी हैं ।

1 ) इस इन्वर्टर के लिए 3 12 वोल्ट वाले बैटरी की जरुरत होती हैं

2 ) यह दो साल की वारंटी के साथ आता है

3 ) इसके भी कुछ ख़ास फीचर है जिसमे पीडब्लूएम नियंत्रित मल्टीस्टेज एटीएम (ऑटो ट्रिकल मोड) चार्जिंग , स्मार्ट ओवरलोड सेंस, शॉर्ट सर्किट और ओवर टेम्परेचर प्रोटेक्शन आदि है ।

4 ) इसमें एलसीडी की सुविधा दी गयी है जिसमे आपको हर तरह की जानकारी देखने को मिलती है

5 ) यदि आप इस इन्वर्टर द्वारा  बिना बिजली के का उपयोग किये ऐसी चलाना चाहते है तो आपको सिर्फ दो electric device इनस्टॉल करने की जरुरत होगी पहला solar  panel  और दूसरा charge  controller  इन दोनों को लगाने के बाद बिना बिजली के भी ac को चला सकते है ।

connection-(inverter in hindi-इन्वर्टर की जानकारी)

हाई-लोड-वाले-इन्वर्टर-1

  • इसमें लगा पीला रंग का स्विच bypass का है जिससे कभी भी कुछ खराबी आने पर इसका इस्तेमाल से आपके घर की सप्लाई बंद नहीं होगी ।
  • mcb के द्वारा इस इन्वर्टर को on या off किया जाता है
  • बाए तरफ सबसे पहला बॉक्स का घेरा मेन लाइन कनेक्शन का है जिसमे 220 volt की सप्लाई दी जाती है
  • बिच में बना बॉक्स से पुरे घर में सप्लाई दी जाती हैं जो एक तरह से इन्वर्टर की तरह काम करता है
  • अंत में बना बॉक्स में आप हैवी लोड को कनेक्ट कर सकते है जिसमे ac या फिर gyeser विकल्प का तौर पर हो सकते हैं

FAQS

इनवर्टर का काम क्या होता है?

यह बिजली के नहीं रहने पर बैकअप प्रदान करता है इसके लिए यह बैटरी से बिजली रेसिव करता हैं और उसे चार्ज भी करता हैं .

घर में इन्वर्टर कैसे काम करता है?

जब बिजली चली जाती है तब इन्वर्टर में लगे सेंसर उसे सेकंड के बहुत छोटे समय में पढ़ लेते है और घर के सप्लाई को इन्वर्टर में स्विच करते है जिसका आपको पता भी नही चल पाता

इन्वर्टर कौन सा करंट निकलता है?

इन्वर्टर बैटरी को चार्ज करने के लिए dc वोल्ट और सप्लाई के लिए ac वोल्ट निकालता है .

इन्वर्टर कितने घंटे चलता है?

यह सब कुच्छ आपके द्वारा चलाये गए इलेक्ट्रिक डिवाइस पर निर्भर है जितना जादा डिवाइस उतना कम बैकअप

सवाल और जवाब

Q – inverter ke bare mein jankari , electric inverter , इन्वर्टर की जानकारी , hindi mein inverter , inverter ka kya kaam hota hai , इनवर्टर कितने प्रकार के होते हैं ,inverter working in hindi

A – इन्वर्टर को यदि सिंपल भासा में समझा जाए तो यह 12 volt की battery को जिसका आउटपुट करंट dc होता है यह उसे ac 220 volt में बदलने का काम करता हैं । जिसके वजह से हमारे घर में लगे हुए सारे electric device जैसे ac fan  , led bulb , tv , fridge , cooler , ro water , gyeser , आदि को चलाया जा सकता है।

क्योंकि इन सभी को चलाने के लिए हमे ac  current की जरुरत पड़ती ये सभी 12 volt dc बैटरी पर डायरेक्ट नहीं चल सकते है इसलिए इन्वर्टर को मेडिएटर भी मान सकते है क्योंकि यही dc voltage को ac में कन्वर्ट करता है ।

लेकिन ऐसा नहीं है की आप कोई सा भी इन्वर्टर बाजार से खरीद कर लाये और उसमे ज्यादा से ज्यादा हैवी लोड दे दे क्योंकि ऐसा करने पर आपका इन्वर्टर खराब भी हो सकता है इसलिए इन्वर्टर को लोड के हिसाब से कई चरण में बांटा गया है जिसकी सूचि आप ऊपर पढ़ सकते है ।

यदि आपका लोड बहुत कम है यानी की 4 पंखा और 5 led bulb है तो आप 850va इन्वेर्टर इस्तेमाल कर सकते है और आप इन्वर्टर से ac चालान चाहते है तो 3 kva का इन्वर्टर इस्तेमाल कर सकते है और इन दोनों के प्राइस में बहुत ज्यादा अंतर भी देखने को मिल जाता है ।

6 thoughts on “inverter in hindi-इन्वर्टर की जानकारी”

Leave a comment