computer ke bhago ke naam

computer ke bhago ke naam

क्या आप अभी – भी कम्प्यूटर के क्षेत्र में नए हैं या इसके विषय  के बारे में जानना चाहते हैं की यह आखिर किन – किन इलेक्ट्रिक पुर्जों के साथ मिलकर बना होता हैं जिसे हम आज के समय में कम्प्यूटर के नाम से जानते हैं । तो आज मैं इसी विषय के बारे में बताने के लिए आपके सामने उपस्थित हुआ हूँ तांकि आपलोग जाइए कितने ही स्टूडेंट होंगे जो अपने लैंग्वेज के अभाव या साफ़ कहे तो इंग्लिश के ज्यादा इस्तेमाल से इस तरह के महत्वपूर्ण जानकारी को समझ नहीं पते हैं तो चलिए आपको मैं आज computor ke bhagon ke naam बताने वाला हूँ और साथ में इसके वर्क को भी बताऊंगा जिससे आपको समझने में और भी आसानी होगी

computor ke parmukh 5 bhag 

आवस्यकता और जरुरत के अनुसार कम्प्यूटर को मुख्य रूप से पांच भागो में बनता गया हैं जिसकी सूची निचे दी गयी हैं ।(computer ke bhago ke naam)

  • इनपुट – आउटपुट डिवाइस 
  • सिस्टम यूनिट 
  • मेमोरी 
  • स्टोरेज डिवाइस 
  • संचार यूनिट 

ऊपर दिए गए इन्ही 5 भागों के मदद से हमारा कम्प्यूटर काम करता हैं इनमे से किसी एक की भी कमी होने पर हमारा कम्प्यूटर ठीक से काम करना बंद कर देता हैं तो चलिए ऊपर दिए पांचो भाग को पूरी डिटेल के साथ समझने की चेस्टा करते हैं ।

components of computer in hindi?

  • इनपुट – आउटपुट डिवाइस 

हमे कम्प्यूटर में लिखने के लिए कोई तो डिवाइस को जोड़ना होता हैं  तभी हम कुछ लिख सकते हैं इसके लिए हमे कीबोर्ड ,  और माउस  की जरुरत पड़ती हैं जो की एक इनपुट -डिवाइस  कहलायेगा । जैसे –माइक्रोफोन , गेम कार्ड , टच पैड

input-device

जैसा की हमने ऊपर पढ़ लिया है की हमे लिखने के लिए कीबोर्ड और माउस की अव्सय्कता पड़ती हैं लेकिन हम कहीं देखेंगे तभी तो लिख पाएंगे तो ऐसे में जो कम्पोनेनेट सीधे तौर पर कम्प्यूटर से जुडी हुई रहती हैं उसे इनपुट डिवाइस कहते हैं जैसे मॉनिटर , प्रिंटर , स्पीकर आदि ये सभी इनपुट डिवाइस के दायरे में आती हैं ।

output-device

  • सिस्टम यूनिट 

यह क्षेत्र हार्डवेयर से सम्बन्धित है  इसलिए इसे सिस्टम कैबिनेट के  नाम से भी जाना जाता हैं इन्ही हार्डवेयर के मदद से हमारी कम्प्यूटर का निर्माण होता हैं अतः इसके बहुत सारे भाग हैं जिसमे से हम इसके जो प्रमुख है उसी के बारे में पुरे विस्तार से समझेंगे । इसके अंदर में रैम , रोम , हार्ड डिस्क , सीडी – ड्राइव , एसएमपीएस , प्रोसेसर , आदि आती हैं ।

  • मेमोरी  (computer ke bhago ke naam)

इसे भी काम के आधार पर दो भागों में बाँट सकते हैं जिसे हम ram और rom के नाम से जानते हैं जिसका पूरा नाम रीड एक्सेस मेमोरी और रीड ओनली मेमोरी होता हैं

  • रैम – ram

ram

यह कम्प्यूटर में चल रहे लाइव जानकारी को जुटाता है जैसे की हमने अपने कम्प्यूटर में मान लीजिये की बहुत सारे पेज को ओपन करके रखा हुआ हैं लेकिन जरा सोंचे की यह जानकारी कहीं इकठ्ठा हो रही हैं और जैसे ही उस किसी पेज को खोलते हैं और जो हमे दीखता हैं वो ram के द्वारा होता हैं ।

  • रोम – rom

rom

ऊपर मैंने बताया की ram कैसे काम करता है लेकिन जैसे ही हम अपने कम्प्यूटर को ऑफ करके ऑन करेंगे वैसे ही हमारी सारी जानकारी डिलीट हो जाएगी लेकिन कुछ जानकारी है जो कहीं पर जमा हो रही होती हैं जिसे हम रोम के नाम से जानते हैं

  • स्टोरेज डिवाइस 

computer-ke-bhago-ke-naam-2

मान लीजिये की कोई  कोई भी इमेज को हमने कम्प्यूटर में बनाया और उसे सेव करना हैं लेकिन हमे कोई ऐसा डिवाइस चाहिए जो हमारे इस इमेज को सेव कर सके तो ऐसे में हमारा यह काम हार्ड डिस्क  करने में सक्षम होता है जिसे हम स्टोरेज डिवाइस भी कहते हैं ।हम जो भी डाटा अपने सिस्टम में सेव करते वे सभी hdd में जाकर सेव हो जाते हैं

  • संचार यूनिट 

computer-ke-bhago-ke-naam-1

अब हम आखिरी और पांचवे भाग के बारे में बात करेंगे जो संचार भाग है , आज के समय में हम में से आप भी मोबाइल इस्तेमाल जरूर कर रहे होंगे और उसमे इंटरनेट की भी सुविधा होगी लेकिन क्या आपको पता हैं की हमारे  कम्प्यूटर में इंटरनेट की सुविधा नहीं होती हैं इसके लिए हमे संचार सिस्टम यानी की डाटा कार्ड , लैन पोर्ट , वाई – फाई आदि को लगाना पड़ता हैं तभी कम्प्यूटर पर इनेर्नेट चल पयेगा ।

basic components of computer system in hindi

यदि हम  इसके बेसिक कंपनेनेट या इससे पूर्ण रूप से चलाने के लिए हमे किन इलेक्ट्रिक डिवाइस की जरुरत पड़ेगी जिससे हम एक कम्प्यूटर को चला सकें ।

  • कीबोर्ड
  • मॉनिटर
  • माउस
  • सी पि यु

कीबोर्ड

यही एक इनपुट डिवाइस है जो लिखने के काम में आता हैं अथार्त कम्प्यूटर को कुछ भी लिखकर दिखाने का निर्देश दिया जाता हैं । इससे हम केवल लिखने के लिए ही नहीं बल्कि पुरे कम्प्यूटर को कंट्रोल करने के भी काम करते हैं । यह कुछ – कुछ टाइप राइटर की तरह ही होता है ।

मॉनिटर

मॉनिटर एक आउटपुट डिवाइस हैं जो जो एक केबल के जरिये हमारे छपु से जुड़ा हुआ होता हैं जिसे हम देखकर अपने कोई भी जरुरी काम को पूरा करते हैं यह टेलीविज़न से मिलजुला डिवाइस होता हैं जिसपे हम सिस्टम के अंदर चल रहे सारे फंक्शन को देख सकते हैं । यह तीन प्रकार के होतें हैं ।

  • crt monitor
  • led  monitor
  • lcd monitor

माउस

जैसा की नाम से ही आप समझ गए होंगे की यह कुछ चूहे की तरह दिखने वाला डिवाइस होता हैं जो कम्प्यूटर के लिए महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है । इससे हम पुरे कम्प्यूटर को कंट्रोल करने के साथ किसी फाइल को ओपन करने बंद करने का काम करते हैं । यह मुख्य तीन प्रकार से काम करता हैं पहला राइट बुट्टोम जिससे हम किसी फाइल को चुन सकते हैं दूसरा लेफ्ट बुट्टोम जिससे हम उस फाइल के बारे में डिटेल जान सकते हैं और तीसरा स्क्रॉल जिससे हम किसी पेज को ऊपर या निचे कर सकते हैं ।

सी पि यु

यह कम्प्यूटर का सबसे महत्वपूर्ण भाग हैं जिसे कम्प्यूटर का दिमाग कहा जाता हैं और इसका पूरा नाम सेंट्रल प्रोसेस यूनिट  हैं । यह कम्प्यूटर में लगे सारे डिवाइस को नियंत्रित करता हैं और यह मदर बोर्ड़ में लगा होता हैं ।

Leave a comment