इन्वर्टर बैटरी बैकअप कैसे बढ़ाये

इन्वर्टर बैटरी बैकअप कैसे बढ़ाये- inverter battery ka backup kaise badhaye

दोस्तों यह सच है की आज के समय में लोग बिजली के बिना एक पल भी नहीं रह सकते हैं इसलिए इस ख्वाइस को पूरा करने के लिए लोगों के ध्यान inverterbattery पर सबसे पहले जाता हैं

मार्किट जाकर किसी बढिये कंपनी का इन्वर्टर बैटरी तो खरीद लेते हैं पर उसको कैसे मैंटेन करके रखना हैं , कैसे उसका ख्याल रखें , समय – समय पर पानी बैटरी के वाटर और घर के लोड को चेक करना इन सभी को ख्याल रखने में विफल हो जातें हैं ।

तो आज मैं इसी समस्या से छुटकारा दिलाने के लिए आपके सामने इस आर्टिकल के माध्यम से कुछ टिप्स बताने वाला हूँ जिसको आप फॉलो करके ज्यादा से ज्यादा इन्वर्टर बैटरी बैकअप  प्राप्त करने के साथ इसकी लाइफ भी बढ़ा सकतें हैं ।

मैं अपने 10 साल के अनुभव को आपके साथ बाँट रहा हूँ जो मैंने प्रॉब्लम झेला है इन्वर्टर बैटरी बैकअप  के मामले में वही सारी चीजे आपके साथ शेयर करूँगा तो चलिए स्टेप बाई स्टेप इससे जुडी सभी तरह के समस्या और इसके सलूशन को आपको बताता हूँ ।

solar और inverter battery में अंतर  repair ups battery

इन्वर्टर बैटरी रखने के स्थान 

सबसे पहले आप बैटरी और इन्वर्टर को एक ऐसे स्थान पर रखें जहाँ का तापमान कम से कम हो यानी की 20 से 25 डिग्री हो अब आप सोचेंगे की मैं यह क्या बोल गया ।

तो मैं इसका सबसे बड़ा कारण बता दू की बैटरी को आप जितना गर्म स्थान पर रखेंगे वो उतना जल्दी डिसचार्ज होने लगेगा क्योंकि उसके अंदर मौजूद चार्ज पार्टिकल हीट के कारण धीरे धीरे समाप्त होने लगते हैं जिससे आपकी बैटरी जल्दी डिस्चार्ज होने लगती हैं इसलिए बैटरी जितने कम गर्म होंगे उतने अच्छे बैकअप देंगे

इन्वर्टर-बैटरी-रखने-के-स्थान 

बैटरी इन्वर्टर का देखभाल – inverter battery ki life kaise badhaye

यदि संभव हो तो जब आपका इन्वर्टर फुल चार्ज हो जाए तो उसे हफ्ते में एक बार जरूर ऑफ कर दे और इसके मैं मुख्य दो कारण आपको बताऊंगा ।

जब भी हम बैटरी को फुल चार्ज करते हैं और मान लीजिये की घर की बिजली बही ज्यादा कट नहीं होती तो ऐसे में बैटरी अपना चार्जिंग साइकिल पूरा नहीं  कर पाता  जिसके कारण उसके अंदर मौजूद चार्ज पार्टिकल एक ही स्थान पर हे स्थित रहते हैं इसलिए हो एकता हैं की फ्यूचर में कम इन्वर्टर बैटरी बैकअप देने लगे

इसलिए जब हफ्ते में एक बार फुल चार्ज होने के बाद इसकी चार्जिंग को बंद कर देंगे और इसके बैकअप को पूरा इस्तेमाल यानी की इसके लौ होने तक यूज़ करके वापस इसको चार्ज पे लगा देंगे तो इसकी लाइफ भी बढ़ेगी और बैकअप भी बढ़िया देगा ।

जब  हमारा बैटरी फुल चार्ज होता हैं तो उसके बाद भी करीब 1 से दो घंटे तक बिना किसी वजह के हमारे बिजली का इस्तेमाल करता  हैं जिसकी रेटिंग 1 से 1.5 एम्पेयर हो सकती हैं जिसको वाट में यदि हम कन्वर्ट करेंगे तो 300 से 400 watt आएगा अब ये किसलिए करता हैं पता नहीं  यदि फुल चार्ज होने के बाद हमे इसके चार्जिंग को बंद कर दे

घर के सप्लाई को इन्वर्टर पर कर दे तो हम इस बिजली को बचा सकते हैं जिसके कारण हमारा बिल भी कम आएगा  यह प्रॉब्लम मेरे इन्वर्टर के साथ हुआ है हो सकता है आपके का साथ न हो । इसलिए मैंने ऊपर बता दिया हैं की यदि आपका इन्वर्टर बैटरी चार्जिंग पॉइंट  नजदीक हैं तो उसका प्रयोग जरूर करे ।

inverter line connection in switch board इन्वर्टर क्या है 

बैटरी इन्वर्टर चुनने का तरीका (इन्वर्टर बैटरी बैकअप कैसे बढ़ाये)

यदि आप बैटरी  खरीदने जा रहें हैं  तो कभी भी भूलकर भी लोकल बनाये गए बैटरी को ना खरीदें जब भी ख़रीदे बढिये कंपनी की बैटरी को खरीदें और यह भी सुनिश्चित कर ले की वो कंपनी वारंटी पीरियड के दौरान कैसी सर्विस प्रोवाइड करती हैं

इससे जुडी एक छोटी सी स्ट्रोय आपको मैं बताना चाहता हूँ की मैंने एक लुमिनोस का बैटरी ख़रीदा था और वो जब नया था तो बहुत ही बढियाँ बैकअप दे रहा था

company-battery-plate

लेकिन जैसे ही उस बैटरी को लगाए हुए 6 महीने गुजर गए उसके बाद चार्ज करते समय गर्म होने लगा जो पहले कभी उतना ज्यादा गर्म नहीं होता था क्योंकि मेरा बैटरी वारंटी में था तो मैंने कंपनी में  शिकायत दर्ज कराई और सर्विस सेंटर में बैटरी को चेकिंग के लिए ले गया उन्होंने ने भी चेक किया और एक हफ्ते के अंदर मुझे नया बैटरी दे दिया गया था ।( इन्वर्टर बैटरी बैकअप कैसे बढ़ाये )

इसलिए सस्ता दाम के कारण लोकल बैटरी तो खरीद लेते हैं  लेकिन जैसे ही 6 या 8 महीने होते हैं वो बैकअप कम देने लगता हैं और हम इसके मेन कारण को न समझकर लाइट या पंखा को दोष देने लगते हैं  इसलिए बैटरी लेते समय दो पैसा ज्यादा लगे किसी अच्छे ब्रांड का बैटरी खरीदें

local-battery-plate

इन्वर्टर खरीदने के लिए हमे ज्यादा दिमाग नहीं लगाना होता हैं बस मेरे बताये हुए कुछ टिप्स को समझेंगे तो आप भी बढ़िया इन्वर्टर को खरीदते समय चुन पाएंगे । इसे जब भी खरीदें अपने घर के लोड को जरूर जोड़ ले  ,

हमेशा प्योर साइन वेव इन्वर्टर का ही चुनाव करे क्योंकि कुछ पैसे ज्यादा लगेंगे लेकिन आपके बिजली को भी यह कम इस्तेमाल करेगा जिससे आपके अतरिक्त बिजली के पैसे बच जायेंगे

इन्वर्टर में eco mode क्या है  luminous inverter repair

लोकल और कंपनी के इन्वर्टर बैटरी के फायदे और नुक्सान (इन्वर्टर बैटरी बैकअप कैसे बढ़ाये)

यदि आप लोकल बैटरी के नुक्सान की बात करे तो इसके खरीदने के के बाद क्योंकि यह हाथ से बनाया गया होता हैं और इसके अंदर लगे प्लेट की क्वालिटी बहुत बेकार होती हैं । जैसे ही 6 से 8 महीने पुराना होता हैं इसके प्लेट के मटेरियल झड़ने लगते हैं जिससे हमारे बैटरी बैकअप पर इसका बुरा असर पड़ता हैं ।

इन्वर्टर-बैटरी-बैकअप-कैसे-बढ़ाये

इसके इस्तेमाल करते वक़्त 15 से 30 दिन के अंतराल पर इसके  पॉजिटिव और  नेगेटिव टर्मिनल पर एक सफ़ेद कलर के मटेरियल जैम जाते हैं जिसे यदि हम साफ़ नहीं करेंगे तो यह बैकअप कम देने लगेगा । जबकि कंपनी वाले बैटरी में इस तरह की कोई  शिकायत नहीं होती हैं और उसके प्लेट भी 4 से 5 साल होने के बाद ही झड़ना सुरु करते हैं

इसके फायदे बस एक ही हैं जब भी यह पुराना हो जाता है तो बड़े आराम से कम पैसे खर्च करके वापस उसी ढांचे में एक नयी बैटरी को बना सकते हैं  लेकिन कंपनी बैटरी में ऐसी सुविधा नहीं हैं इसके प्लेट को हम बदल नहीं सकते हैं इसे किसी कबाड़े में बेच देना ही अच्छा रहता हैं

local-battery

लोकल इन्वर्टर में बहुत ही कम पुरजर लगे होते हैं जो बिजली का ज्यादा उपयोग करते हैं और बैटरी में चार्जिंग के लिए सुध dc वोल्टेज भी नहीं जा पाटा हैं है बैटरी के जल्दी खराब होने का खतरा बना रहता हैं और साथ में इसके फंक्शन भी ज्यादा नहीं होते हैं

जबकि कंपनी क बैटरी में ऐसा नहीं है वो बैटरी में सुध dc वोल्टेज को भेजते हैं जिससे उसकी लाइफ अच्छ हो और साथ में कम बिजली का उपयोग करते हैं । और इन इन्वर्टर को ज्यादा से ज्यादा बैटरी बैकअप देने के लिए डिज़ाइन किय गया होता हैं 

इन्वर्टर कितने वाट का होता है  battery kitne watt ka hota hai

FAQS-इन्वर्टर बैटरी बैकअप समस्या

Q- tubular battery ki life kitne saal hai

A – 5 से 7 साल

Q- बैटरी बैकअप कैसे निकाले / battery backup kaise nikale

A – किसी भी तरह का बैटरी का बैकअप निकलना बहुत ही आसान है बस इसमें कुछ गणित के जानकारी होने चाहिए । यदि आपको गुना – भाग करना आता है तो आप आसानी से बैटरी का बैकअप समय निकाल सकते है ।

इसके लिए आपको बैटरी में सिर्फ दो चीज की वैल्यू पता करना होता है पहला की बैटरी कितना ampere का है और दूसरा उसका volt कितना है । बस यही दोनों का पता करके आप बैटरी बैकअप समय निकाल सकते हैं

जैसे मान लीजिए कोई बैटरी 100 ampere  की है और वह 12 वोल्ट पर आउटपुट देती है तो इस स्थिति में इन दोनों को गुना करना होगा जिसका वैल्यू 1200 आएगा जिसे हम watt कहते है ।

मान लजिए की आपने एक पंखा ( 70 वाट ) और led bulb ( 30 watt ) उस बैटरी से जोड़ रखा है तो हमारा कुल लोड 100 वाट हुआ यानी की यह दोनों electric device उस बैटरी पर 12 घंटे तक चल सकता है ।

Q- इन्वर्टर बैटरी गर्म होने का कारण / inverter battery backup kaise badhaye

A- इसके बहुत से कारण हो सकते है फिर भी कुछ महत्वपूर्ण बातें आपको बता दू की

  • कभी भी बैटरी इन्वर्टर को गर्म स्थान पर नहीं रखें
  • इसको कभी भी ओवरलोड चार्जिंग नहीं करे
  • जब बैटरी ज्यादा पुराण हो जाता है तब यह चार्जिंग का समय गर्म होना सुरु हो जाता है इसलिए इसे आप एक तरह से बैटरी बदलने के संकेत की तरह समझ सकते है
  • ज्यादा एम्पेयर  का इन्वर्टर और कम पावर का बाटरी इंस्टाल से भी battery जल्दी चार्ज होने लगता है जिससे गर्म होना आम बात है

Leave a comment