ldr working principle -light dependent resistor in hindi

ldr working principle

what is ldr in hindi

लाइट डिपेंडेंट रेसिस्टर्स, LDR और  फोटोरेसिस्टर्स का उपयोग अक्सर इलेक्ट्रॉनिक सर्किट डिजाइनों में इस्तेमाल किया जाता है जहां पर प्रकाश की उपस्थिति या उसके स्तर का पता लगाना आवश्यक होता है।इन इलेक्ट्रॉनिक पुर्जो को प्रकाश आश्रित रोकनेवाला, एलडीआर, फोटोरेसिस्टर, या यहां तक कि फोटो सेल, फोटोकेल या फोटोकॉन्टर से विभिन्न नामों से वर्णित किया जा सकता है अथार्त अन्य इलेक्ट्रॉनिक कॉम्पोनेन्ट जैसे कि फोटोडियोड या फोटो-ट्रांजिस्टर  का भी उपयोग किया जा सकता है, एलडीआर या फोटो-प्रतिरोधक कई इलेक्ट्रॉनिक सर्किट डिजाइनों में उपयोग करने के लिए विशेष रूप से सुविधाजनक होते हैं एवं वे प्रकाश स्तर में परिवर्तन के लिए प्रतिरोध में बड़ा परिवर्तन प्रदान करते हैं

what-is-dr-in-hindi

light dependent resistor कम लागत, निर्माण में आसानी,और इसका उपयोग आसान होने के कारण LDR का उपयोग विभिन्न प्रकार के सर्किट में किया जाता है। एक समय में LDRs का उपयोग फोटोग्राफिक लाइट मीटर में किया जाता था, और अभी भी कई प्रकार के अनुप्रयोगों में उपयोग किए जाते हैं, जहां प्रकाश स्तर का पता लगाया जा सके

एक फोटोस्टोरिस्टर या प्रकाश आश्रित रोकनेवाला एक ऐसा  इलेक्ट्रॉनिक पुर्जा  है जो प्रकाश के प्रति काफी संवेदनशील होता है। जब भी प्रकाश उसके ऊपर  पर गिरता है, तो उसका रेजिस्टेंस बदल जाता है। लगातार रौशनी या प्रकाश के कम और ज्यादा होने पर ldr के रेजिस्टेंस में बदलाव या कम ज्यादा होना आवश्यक है

अतः हम यह कह सकते है की जब प्रकाश photoresistor पर पड़ती है तो उसका रेजिस्टेंस मान बदल जाता है इसलिए एक  फोटोरेसिस्टर के रेजिस्टेंस का मान समान्य नहीं होता है किसी अँधेरे स्थान पर इसका मान 1 मेगा ohms तक हो जाता है और प्रकाश में लाने के बाद इसी का मान कम होकर कुछ (100)ohms तक भी आ जाता है ।ldr full form in hindi- लाइट डेपेंडेट रेसिस्टर होता है

ldr kaise kam karta hai

ldr-working-principle-1

एलडीआर semiconductor meterial  से बने होते हैं ताकि वे अपने प्रकाश संवेदनशील गुणों को कामयाब बना सके । इनमे कई सामग्रियों का उपयोग किया जाता है लेकिन इनमे फोटोरिस्टर्स के लिए एक लोकप्रिय कम्पननत कैडमियम सल्फाइड, सीडीएस है, हालांकि कैडमियम के उपयोग के साथ पर्यावरण को हानि ना हो इसके कारण कैडियम का उपयोग अब यूरोप में प्रतिबंधित है।इसी तरह कैडमियम सीडीएसई भी प्रतिबंधित है।

जिन अन्य सामग्रियों का उपयोग किया जा सकता है उनमें सीसा सल्फाइड, पीबीएस और इंडियम एंटीमोनाइड, आदि ये सब इसमें शामिल हैं। हालाँकि इन फोटोरिस्टर्स के लिए एक अर्धचालक सामग्री का उपयोग किया जाता है, वे विशुद्ध रूप से निष्क्रिय डिवाइस होते हैं क्योंकि उनके पास पीएन जंक्शन नहीं होता है, और यह उन्हें फोटोडायोड और फोटोट्रांसिस्टर्स जैसे अन्य फोटोडेटेक्टरों से अलग करता है।

LDR / photorsistor  symbol

इलेक्ट्रॉनिक सर्किट में उपयोग किया जाने वाला एलडीआर प्रतीक प्रतिरोधक सर्किट प्रतीक के आसपास आधारित होता है, लेकिन प्रकाश को दिखाता है, जिस पर तीर चमकते हैं। इस तरह यह फोटोडायोड और फोटोट्रांसिस्टर सर्किट सिंबल के लिए उपयोग किए जाने वाले उसी सिग्नल  का अनुसरण करता है जहां इन कॉम्पोनेन्ट पर प्रकाश को दिखाने के लिए तीरों का उपयोग किया जाता है।

निचे आप इमेज में इसके सिंबल को देख सकते है की , प्रकाश आश्रित रोकनेवाला / फोटोरेसिस्टर सर्किट सिंबल को नए शैली के प्रतिरोधक चिह्न, अथार्त  एक आयताकार बॉक्स और पुराने ज़िग-ज़ैग रेखा रोकनेवाला सर्किट प्रतीकों दोनों के लिए दिखाया गया है।

photorsistor-symbol

photo resistor structure 

एक्टिव सेमीकंडक्टर  क्षेत्र आम तौर पर एक semi-insulate  सब्सट्रेट पर जमा किया जाता है और प्रकाश के संपर्क में आने वाले फोटोरेसिस्टर के क्षेत्र को बढ़ाने के लिए एक इंटरडिजिटल पैटर्न का उपयोग किया जाता है। पैटर्न को सक्रिय क्षेत्र की सतह पर धातुरूप में काटा जाता है और यह प्रकाश को अंदर जाने देता है।

ldr circuit diagram

अब हम एक ldr को सिद्ध करने के लिए एक सर्किट का निर्माण करेंगे जिससे यह सिद्ध हो जाए की आखिर में हमारा ldr kaise kaam karta hai जिससे हमे इसके बारे में समझना और भी आसान हो जायेगा ।

dark activated switch circuit 

dark-activated-switch-circuit 

 

सबसे पहले इस सर्किट को बनाने के लिए हमे कुल 6 इलेक्ट्रिक कम्पननत की अव्सय्कता होगी जो जिसकी लिस्ट निचे दी गयी है और यदि आप इसे बनाना चाहते हैं तो इन सारे पार्ट्स को एक जगह इकट्ठा कर ले ताकि बनाते वक़्त किसी पार्ट की कमी न हो जाए  और सिर्फ 6 कंपोनेंट्स की मदद से हम इस सर्किट को बना सकते है ।

  1. 50k ohms रेजिस्टेंस / 1k ohms
  2. ldr
  3. 9-12 वोल्टस बैटरी
  4. bc574 ट्रांजिस्टर
  5. led

इसको बनाने के लिए हमे सबसे पहले , बैटरी पॉजिटिव में कनेक्शन करते हुए दोनों रेजिस्टेंस(50k or 1k ohms ) को जोड़ देंगे फिर इसके बाद 50k ohms रेजिस्टेंस के बचे दूसरे छोर को ट्रांजिस्टर के base में कनेक्ट करेंगे एवं उसमे एक और कनेक्शन ldr को भी करेंगे । अब ldr के दूसरे छोर को बैटरी के negative और ट्रांजिस्टर के emitter में जोड़ेंगे ।

अभी हमारा एक अंतिम कनेक्शन को करने के लिए  1k resistance के दूसरे छोर को led के anode में जोड़ेंगे और उसके बचे cathode को ट्रांजिस्टर के collector में कनेक्ट कर देंगे । इस तरह हमारा सर्किट कम्पलीट हो जायेगा अब इसमें बैटरी से पावर देकर अपने इस छोटे से प्रोजेक्ट को टेस्ट कर सकते है ।

जब हम इसे on करके किसी dark room में ले जायेंगे तो इसमें लगा led जल जायेगा और जब हम इसे किसी रौशनी वाले स्थान पर ले जायेंगे तो led off हो जायेगा इस तरह से हम आखिर ldr kaise banaye इसे बड़ी आसानी से समझ सकते हैं ।

types of photoresistor (ldr working principle)

LDR या फोटोरिस्टोर को दो प्रकार या श्रेणियों में हम बाँट सकते हैं –

intrinsic photoresistor

यह आंतरिक फोटोरिस्टिस्टर्स सिलिकॉन या जर्मेनियम सहित अन-डॉप्ड सेमीकंडक्टर सामग्री से मिलकर बना होता है । एलडीआर पर फोटॉन गिरते हैं जो इलेक्ट्रॉनों को वैलेंस बैंड से कंडक्शन बैंड तक ले जाते हैं और यही इलेक्ट्रान करंट का निर्माण होने लगता है ।अधिक प्रकाश जब इस  डिवाइस पर पड़ता है, तो  इलेक्ट्रॉनों का निर्माण भी अधिक होने लगता है और चालकता का स्तर अधिक होता है, और इसके परिणामस्वरूप प्रतिरोध का क्षमते कम हो जाती है ।

extrinsic photoresistor 

एक्सट्रिंसिक फोटोरिस्टिस्टर्स impurities  के साथ डोप की गई सामग्री के semiconductor  से निर्मित होते हैं। ये अशुद्धियाँ या डोपेंट मौजूदा वैलेंस बैंड के ऊपर एक नया ऊर्जा बैंड बनाते हैं। नतीजतन, इलेक्ट्रॉनों को कम ऊर्जा की आवश्यकता होती है क्योंकि छोटे ऊर्जा अंतर के कारण प्रवाहकत्त्व बैंड में स्थानांतरित होता है।प्रकाश पर निर्भर प्रतिरोधक या फोटोरेसिस्टर के प्रकार के बावजूद, दोनों प्रकार घटना प्रकाश के बढ़ते स्तर के साथ चालकता में वृद्धि या प्रतिरोध में गिरावट को  दर्शाते हैं।

conclusion(ldr working principle)

उम्मीद करता हु की आप इस आर्टिकल के द्वारा ldr in hindi को अच्छे से और कोई बिना कोई डाउट के समझ गए होंगे , मैं आपसे गुंजारिस करूंगी की आप अपनी राय हमे क्यूमेंट में जरूर बताये ताकि मुझे और पोस्ट लिखने की हिम्मत मिले और किसी दूसरी जानकारी जिसे आप जानना चाहते है उसे भी बताये जिसे जीतनी जल्दी हो सके आपके सामने लाने की कोसिस की जाएगी

ldr price(ldr working principle)

ldr खरीदने से पहले हमे एक बात का ध्यान जरूर देना चाहिए की इसे लोकल मार्किट से खरीदने के बजाये यदि हमे इसकी ज्यादा क्वांटिटी की अव्सय्कता है तो इनेर्नेट से amazon , या flipkart से buy करना चाहिए ताकि हमारा पैसा ज्यादा लगने के बजाये कम लगे धन्यवाद

Leave a comment