10 DAYS MOVING AVERAGE WITH RENKO – इससे कमाल का चार्ट कही नहीं

10 DAYS MOVING AVERAGE WITH RENKO

दोस्तों आज हम एक बहुत ही कमल के ट्रिक को आजमा कर देखेंगे की क्या यह टेक्निकल चार्ट में अच्छे से काम काम कर सकता है जिससे हम एक बढ़िया सा swing trade के लिए कोई स्टॉक को BUY कर सके । जिस इंडिकेटर में हुमाज काम करेंगे उसके लिए हमे एक DEMAT ACCOUNT का प्लेटफॉर्म चाहिए जिसके टेक्निकल चार्ट पर हम यह काम कर सके ।

इसके लिए हमे जो INDICATOR चाहिए वो इस प्रकार है :- 

  1.   10 days moving average ( simple moving average -sma)
  2. macd ( सेट डिफॉल्ट्स सेटिंग )
  3. renko chart :-  1 hour ( इसके सेटिंग में कोई बदलाव नहीं होगा )

हमे इसमें जरुरी ध्यान यह देना है की सभी चुने हुए स्टॉक nifty 50 या nifty bank के होने चाहिए क्योंकिं हमे अच्छे रिजल्ट के लिए इन्ही में कोई स्टॉक चुनने होंगे । हमे इसमें ट्रेड लेने के लिए 1 घंटे के टाइम पीरियड को सेलेक्ट करना होगा  जब हमारा प्रॉफिट 5% हो जाए तो हम उस स्टॉक को sell कर देंगे नहीं तो renko brick के signal का इंतजार करेंगे ।

technical chart10 DAYS MOVING AVERAGE WITH RENKO 

10-days-moving-average-with-renko-1

सबसे पहले हम अपने technical chart को open करेंगे और उसके ऊपर वाले इंडिकेटर बॉक्स में जायेंगे वहां से हम moving average type कर क्लिक करेंगे ।moving एवरेज के setting में जाकर 10 days पर set कर देंगे । इसके बाद हम इसी प्रकिर्या को दोहराकर macd ko select करेंगे किन्तु इसके स्टिंग से कोई चेंजिंग नहीं करेंगे । renko chart लगाने के लिए हम ऊपर में बाए तरफ कैंडल वाले आइकॉन पर क्लिक करेंगे तो हमे 8 वे नंबर पर रेंको दिखेगा उसे हम क्लिक करेंगे और सेटिंग को वैसे ही रहने देंगे ।

10-days-moving-average-with-renko-2

स्टॉक कब खरीदें 

buy position :-  यदि आप ऊपर वाले image पर ध्यान दे तो हमे जो balck colour का लाइन दिख रहा है वो 10 days का moving average है । जब तक उस line के ऊपर हमारा कोई भी एक green renko brick न बन जाए तब तक हम स्टॉक को buy nahi करेंगे और साथ में हमारा macd भी क्रॉस दिखाना चाहिए  या cross करके ऊपर भी रहे तो चलेंगे ( स्टॉक uptrend में रहे या macd cross over दे निचे से ऊपर तो हमारे प्रॉफिट होने के चांस ज्यादा हो जाते है ) इन दोनों में बस इतना अंतर है की जब क्रासिंग देगा तो हमे प्रॉफिट ज्यादा मिलेगा और यदि ऊपर रहेगा तो प्रॉफिट हमे छोटे – छोटे मिलेंगे ।

stop loss :-   जिस ग्रीन renko brick पर हम ट्रेड लेंगे उसके ठीक निचे के तरफ एक brick छोड़कर ठीक उसके निचे हमारा जो प्राइस आएंगे उसी पे स्टॉप लोस्स लगेगा ।

sell position :-  यदि स्टॉक को सेल्ल करने की बात करे तो मान लीजिये की कोई स्टॉक uptrend में है तो बड़े आराम से हमे 5% का प्रॉफिट दे सकता है नहीं तो हम किसी conform दो  रेड brick बनने  का वेट करेंगे जैसे ही बन जाए हम स्टॉक को सेल्ल कर देंगे ।

यहाँ ध्यान देनेवाली बातें यह है की trading view टेक्निकल चार्ट का इस्तेमाल करना सही रहेगा क्योंकि यहाँ पर हमे रेंको की confirm brick  और pending brick बड़े आसानी से नजर आती है । अंत में यह कहूंगा की केवल स्टडी पर्पस ही मेरी प्राथिमिकता है कोई भी स्टॉक खरीदने से पहले अपने एडवाइजर से सलाह जरूर ले । धन्यवाद

Leave a comment